Uttar Pradesh: Prison Return Criminals Write letter to Police and beg for mercy in Shamli – प्रार्थना प्रत्र देकर पुलिसवालों से नर्मी की गुहार लगा रहे अपराधी, देखें वीडियो

उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में पुलिस का खौफ अपराधियों में इस कदर बैठ गया है अब वे पुलिस से नर्मी की गुहार लगा रहे हैं। शामली में जेल से छूटकर आए दो लोगों ने पुलिस को पत्र लिखकर रहम की भीख मांगी। ईटीवी भारत यूपी नाम के यूट्यूब चैनल पर शेयर किए गए एक वीडियो में जेल से छूटे दो अपराधी कहते दिख रहे हैं कि वे अब मेहनत-मजदूरी करके बच्चों की परवरिश करना चाहते हैं, इसलिए पुलिस को उन्होंने चिट्ठी लिखी। वहीं शामली में बतौर एसपी तैनात एनकाउंटरमैन के नाम से मशहूर आईपीएस अधिकारी डॉक्टर अजय पाल शर्मा ने पत्रकारों को बताया- ”ये कुछ ऐसे क्रिमिनल्स हैं, जिन पर कोर्ट में लूट, डकैती, हत्या और अवैध असलहा रखने के संबंध में काफी मुकदमें दर्ज हैं, इसी संबंध में दो अपराधियों द्वारा अपनी तरफ से लिखित रूप में प्रार्थना पत्र और साथ में एफिडेविट दिए गए, उनमें कहा गया है कि आगे किसी रूप में आपराधिक संलिप्तता नहीं रहेगी और वो मेहनत-मजदूरी करके अपने बच्चों की परवरिश करना चाहते हैं।”

संबंधित खबरें

उन्होंने आगे कहा- ”इसी संबंध में वे अपने स्पष्टीकरण के लिए पुलिस के सामने आए और बयान दिया। बाकी पुलिस अपनी कार्रवाई के संबंध में जांच करेगी और अगर वे किसी तरह से संदिग्ध गतिविधी में संलिप्त पाए जाते हैं तो पुलिस कार्रवाई करेगी।” एसपी अजय पाल शर्मा ने बताया कि पुलिसिंग का असर अपराध और अपराधियों पर दिख रहा है, पुलिस का यही मूल उद्देश्य है कि अपराधियों को अपराध से हटाया जा सके, अपराध को नियंत्रण में किया जा सके, किसी प्रकार का अपराध न हो उसमें अच्छी सफलता मिल रही है, हमारा प्रयास है कि किसी भी तरीके की घटना न हो और अगर होती है तो पुलिस अपनी कार्रवाई करेगी।”

बता दें कि पिछले दिनों हापुड़ जिले के बाबूगढ़ थाने में भी कुछ ऐसा ही हुआ था। 15 हजार के ईनामी आरोपी ने एनकाउंटर के डर से खुद पुलिस थाने में जाकर सरेंडर कर दिया था। आरोपी ने कैमरे के सामने अपना गुनाह कबूलते हुए बताया था कि उसने एक सेंट्रो कार से लूट की थी और कार वाले को गोली मारी थी। आंकड़ों के मुताबिक उत्तर प्रदेश में पिछले 10 महीनों में पुलिस ने करीब साढ़े नौ सो एनकाउंटरों में करीब तीन दर्जन अपराधियों को मार गिराया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *