Vishwa Hindu Parishad international working president Pravin Togadia supported Valentine Day and said young men and women have right to love – युवक और युवती प्रेम नहीं करेंगे तो सृष्‍टि नहीं चलेगी, बोले- प्रवीण तोगड़िया, वैलेंटाइन डे का विरोध नहीं

विश्‍व हिंदू परिषद के अंतरराष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने वैलेंटाइन डे का समर्थन किया है। उन्‍होंने कहा क‍ि अगर युवक और युवती प्रेम नहीं करेंगे तो सृष्टि नहीं चलेगी। विहिप नेता ने स्‍पष्‍ट तौर पर कहा कि युवाओं को प्रेम करने का अधिकार है और वैलेंटाइन डे पर किसी तरह का विरोध या हिंसा नहीं होगी। विहिप नेता और कार्यकर्ता वर्षों से प्रेम के प्रतीक वैलेंटाइन डे का विरोध करते रहे हैं। संगठन इसके खिलाफ फरमान जारी कर लोगों को आगाह भी करता रहा है। ऐसे में वैलेंटाइन डे से ठीक पहले विहिप नेता का यह रुख चौंकाने वाला है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, प्रवीण तोगड़िया 11 फरवरी को चंडीगढ़ में विहिप और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘प्रेम नहीं करेंगे तो विवाह नहीं होगा, विवाह नहीं होगा तो सृष्टि कैसे चलेगी? युवा और युवतियों को प्रेम करने का पूरा अधिकार है। वह अधिकार उन्‍हें मिलना चाहिए। मैंने संदेश दे दिया है कि हमारी बेटी को भी प्‍यार करने का हक है और हमारी बहन को भी प्‍यार करने का अधिकार है।’ विहिप और बजरंग दल भारत में वैलेंटाइन डे को प्रतिबंधित करने का वर्षों से मांग करते रहे हैं। दोनों संगठन इसे हिंदू-विरोधी के साथ भारत विरोधी भी मानते हैं। मालूम हो क‍ि हर साल 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे के तौर पर मनाया जाता है।

संबंधित खबरें

पाकिस्‍तान के खिलाफ युद्ध छेड़े सेना: प्रवीण तोगड़िया ने जम्‍मू-कश्‍मीर के मौजूदा हालात पर भी टिप्‍पणी की। सेना के सुंजवान शिविर पर आतंकी हमले पर प्रतिक्रिया देते हुए विहिप नेता ने कहा क‍ि सेना को पाकिस्‍तान के खिलाफ युद्ध छेड़ने का निर्देश दिया जाना चाहिए। तोगड़िया ने आतंकी हमले की कड़ी निंदा भी की है। उन्‍होंने कहा, ‘हमारी सेना को युद्ध की तैयारी करते हुए पाकिस्‍तान पर अविलंब हमला कर देना चाहिए। पाकिस्‍तान का नाम नक्‍शे से हटा दिया जाना चाहिए। हमलोग कब तक सिर्फ बात करते रहेंगे। इस वजह से हमारे जवान शहीद हो रहे हैं।’ विहिप नेता ने जम्‍मू-कश्‍मीर की मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती की भी कड़ी आलोचना की है। उन्‍होंने कहा कि जो लोग हमारी सेना पर पत्‍थर बरसाते हैं सरकार उनके खिलाफ दर्ज मामलों को वापस कैसे ले सकती है। पत्‍थरबाजों को अविलंब रोकने की जरूरत है। उन्‍होंने कश्‍मीरी हिंदुओं की घर वापसी कराने की भी मांग की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *