पानी की समस्या से जूझ रहा दक्षिण अफ्रीका का यह शहर, विराट कोहली और फाफ डू प्लेसिस की टीम ने दिया दान – Virat kohli and Faf du plessis teams donate about 8500 dollar for capetown water crisis

भारतीय और साउथ अफ्रिकाई क्रिकेट टीम ने केप टाउन में चल रही पानी की समस्या को दूर करने के लिए करीब 8,500 डॉलर दान में दिए हैं। पीटीआई के अनुसार, विराट कोहली और फाफ डू प्लेसिस ने पानी की कमी के गंभीर संकट से जूझ रहे शहर में पानी की बोतल पहुंचाने और बोरवेल बनवाने के लिए यह राशि दान दी है। टी20 श्रृंखला के तीसरे और आखिरी मैच के बाद दोनों टीमों के कप्तान ने 1,00,000 रैंड (दक्षिण अफ्रीकी मुद्रा) ‘द गिफ्ट ऑफ दी गिवर्स फाउंडेशन’ को दान में दिए। आपको बता दें कि ‘द गिफ्ट ऑफ दी गिवर्स फाउंडेशन’ अफ्रीकी महाद्वीप का सबसे बड़ा आपदा राहत संगठन है।

दोनों टीमों द्वारा उठाए गए इस कदम से ‘द गिफ्ट ऑफ दी गिवर्स फाउंडेशन’ के चेयरमैन इम्तियाज सूलीमान काफी खुश हैं। इस पर बात करते हुए इम्तियाज सूलीमान ने कहा “इस दान को अच्छे कार्य में इस्तेमाल किया जाएगा। ‘द गिफ्ट ऑफ दी गिवर्स’ साउथ अफ्रीकाई और भारतीय क्रिकेट टीम के इस कदम की प्रशंसा करता है जो कि उन्होंने हमारे पश्चिमी केप में पड़ रहे सूखे के लिए उठाया है। विराट कोहली और फाफ डू प्लेसिस की टीम द्वारा दिए गए इस दान की मदद से कई इलाकों में बोरवेल की खुदाई कर पाएंगे, जहां पर पानी की कमी के कारण लोग परेशान हैं।”

संबंधित खबरें

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इस फंड का मानसिक, शारीरिक रूप से कमजोर लोगों के लिए बने शेल्टर्स और अनाथाल्यों तक पानी की सप्लाई पहुंचाने के काम में इस्तेमाल किया जाएगा। गौरतलब है कि पिछले महीने केप टाउन के लोगों पर 50 लीटर से ज्यादा पानी का इस्तेमाल करने पर रोक लगा दी गई थी। मेयर पेटरिशिया डी लिल्ले ने घोषणा की थी शहर उस स्थिति में पहुंच चुका है जहां से वापस आना मुश्किल है। शहर ‘डे जीरो’ की तरफ बढ़ रहा है और यदि ऐसा हुआ तो वो दिन दूर नहीं जब अगले दो महीने के अंदर-अंदर पानी खत्म हो जाएगा।

इस मामले पर बात करते हुए कप्तान फाफ डू प्लेसिस ने कहा “दोनों टीम केप टाउन में पानी के संकट की कमी का अनुभव कर चुकी हैं। इस मामले को लेकर विराट कोहली से बात की गई थी, जिसके बाद फैसला किया गया कि टीमें कुछ जर्सियों पर साइन कर उन्हें नीलामी के लिए देंगी, ताकि इससे मिलने वाली राशि से शहर के पानी के संकट को दूर करने में मदद की जा सके।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *