भारतीय गेंदबाजों की बखिया उधेड़ने वाले क्लासेन ने इस क्रिकेटर को दिया क्रेडिट – Henrik Klasen Credited to JP Duminy for His Intimidating Fear During Second T20 International Match Against India

दक्षिण अफ्रीका के आक्रामक बल्लेबाज हेनरिक क्लासेन ने भारत के खिलाफ दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान अपने अंदर का भय मिटाने के लिए जेपी डुमिनी को श्रेय दिया और कहा कि उनकी मैच विजेता पारी में कप्तान की भूमिका अहम रही। क्लासेन ने 30 गेंदों पर 69 रन बनाए जिससे दक्षिण अफ्रीका ने छह विकेट से जीत दर्ज करके तीन मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर की। उन्होंने डुमिनी के साथ तीसरे विकेट के लिए 97 रन की साझेदारी की। क्लासेन ने कहा, ‘‘मेरी पारी में डुमिनी की भूमिका अहम रही। मैंने जो पहला या दूसरा ओवर खेला तो उसने मुझसे कहा कि इस ओवर में दस रन बनने चाहिए। उसने कहा कि अपनी नैर्सिगक क्रिकेट खेलूं और गेंदबाजों पर हावी होकर बल्लेबाजी करूं। सौभाग्य से आज यह रणनीति चल गई।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जिस तरह से जेपी ने मुझसे कहा कि इस ओवर में 20 रन बनने चाहिए, उससे मेरे अंदर का डर बाहर निकल गया। इसके अलावा चित शांत रखना भी जरूरी था। एक समय ऐसा था जब मैं अच्छे शाट लगा रहा था।’’ क्लासेन ने कहा, ‘‘वे (भारतीय गेंदबाज) काफी कुशल गेंदबाज हैं और इसलिए उनकी हर गेंद पर रन बनाना आसान नहीं था।’’ विकेटकीपर बल्लेबाज क्लासेन ने यह पारी अपने घरेलू मैदान पर खेली और इसलिए उनके लिए इसका महत्व बढ़ गया।

संबंधित खबरें

उन्होंने कहा, ‘‘अपने घरेलू मैदान पर मैच विजेता पारी खेलना निश्चित तौर पर किसी भी खिलाड़ी का सपना होता है। यह सोने पे सुहागा जैसा था।’’ क्लासेन को क्विंटन डिकाक के चोटिल होने के कारण टीम में जगह मिली और उन्होंने इस मौके का पूरा फायदा उठाया। वह अभी हालांकि डिकाक की जगह लेने के बारे में नहीं सोच रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘वह विश्वस्तरीय खिलाड़ी है और हमारी टीम को विशेषकर शीर्ष क्रम में उसकी कमी खल रही है। मुझे नहीं लगता कि उसे अभी किसी तरह की चिंता करने की जरूरत है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *