Afghan cricketer Mohammad sehzad did not become lean like Virat kohli – खुद को विराट जैसा फिट नहीं देखना चाहता ये अफगान प्‍लेयर

अफगानिस्तान के स्टार क्रिकेटर मोहम्मद शहजाद का वजन 90 किलो है। वह फिटनेस फ्रीक माने जाने वाले विराट कोहली से बिल्कुल उलट हैं। बेहतरीन विकेटकीपर और बल्लेबाज के तौर पर जाना जाने वाला 5 फीट 8 इंच का ये अफगान खिलाड़ी खाने-पीने का भी बेहद शौकीन है। शहजाद खुद को भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियाों की तरह दुबला-पतला नहीं देखना चाहते हैं। वह कहते हैं कि जब वजन के साथ भी वह विश्व के नंबर वन एक दिवसीय क्रिकेट खिलाड़ी विराट कोहली से लंबे शॉट्स लगा सकते हैं तो उन्हें वजन कम करने की क्या जरूरत है?

जब मैदान में मोहम्मद शहजाद खड़े हों तब शायद ही कोई ऐसा क्षण जाता हो जब मैदान में खामोशी रहती हो। शहजाद कहते हैं, देखिए, हम फिटनेस भी पूरी करते हैं और खाते भी पूरा हैं। अगर आप मुझसे चाहें कि मैं कोहली की तरह अपना फिटनेस रूटीन रखूं तो ये संभव नहीं है, लेकिन मैं वजन कम करने की कोशिश कर रहा हूं। शहजाद ने क्रिकेट खेलना पाकिस्तान के एक रिफ्यूजी कैंप में सीखा था। जलालाबाद का रहने वाला ये खिलाड़ी उर्दू धाराप्रवाह बोल लेता है, जबकि उन्होंने हिन्दी का टेस्ट भी पास किया है। शहजाद कहते हैं कि हर कोई विराट कोहली की तरह नहीं बन सकता है। वह जितना लंबा छक्का मारते हैं। मैं उससे लंबा मार सकता हूं। जरूरत क्या है उनकी तरह इतनी डाइटिंग करने की।

तीस साल के शहजाद का 2009 तक शानदार क्रिकेट करियर था, लेकिन अब वह अपने नियमों के हिसाब से क्रिकेट खेलते हैं। लेकिन वेटलॉस करने में नाकाम रहने वाले शहजाद पर पिछले साल डोपिंग बैन लग गया था। उन्होंने भारत में काफी वक्त गुजारा था और ये जानने की कोशिश की थी कि भारतीय खिलाड़ी इतना फिट कैसे रहते हैं? शहजाद महेन्द्र सिंह धोनी को अपना सबसे करीबी दोस्त मानते हैं। वह सुरेश रैना और शिखर धवन के भी अच्छे दोस्तों में शामिल हैं। वह शिखर धवन को प्यार से शेखर कहते हैं।

मोहम्मद शहजाद को कई बार अपने वजन के कारण आलोचना का सामना करना पड़ा है। लेकिन उन्होंने इस आलोचना का जवाब अपनी मैच जिताऊ परफॉरमेंस से दिया है। उन्होंने टी-20 टूर्नामेंट में अफगानिस्तान के सर्वश्रेष्ठ रन बनाने वाले खिलाड़ी होने के दावे को नकार दिया। जबकि एक दिवसीय क्रिकेट में मोहम्मद नबी के बाद वह दूसरे बड़े अफगान क्रिकेट खिलाड़ी हैं। मेरे कोच फिल सिम्मोन्स जानते हैं कि मैं पचास ओवर तक लगातार बल्लेबाजी कर सकता हूं और पचास ओवर तक लगातार बैटिंग कर सकता हूं। मैंने वजन को कभी समस्या की तरह नहीं देखा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *