Angry Fans are Trolling Kings-11 Punjab for making Ravichandran Ashwin as Captain, suggested change Name as Kings 11 Madras – आर. अश्विन को कप्तान बनाने पर पंजाब को ट्रोल कर रहे फैंस, कहा- किंग्स-11 मद्रास रख लो नाम

रविचंद्रन अश्विन को टीम का कप्तान बनाकर किंग्स-11 पंजाब फैंस के निशाने पर आ गई। सोशल मीडिया पर टीम के फैंस और फॉलोअर्स इस बात से नाराज हो गए। वे इसी बात पर टीम को ट्रोल करने लगे। बोले कि किंग्स-11 पंजाब का नाम अब किंग्स-11 मद्रास रख लिया जाना चाहिए। आपको बता दें कि आईपीएल-11 में अश्विन पंजाब का हिस्सा हैं। वह मूल रूप से दक्षिण भारत के हैं और इससे पहले तक चेन्नई की टीम से खेलते थे। सोमवार (26 फरवरी) को टीम के मेंटर वीरेंद्र सहवाग ने ऐलान किया कि अश्विन इस सीजन में टीम के कप्तान होंगे। सोशल मीडिया पर इसी फैसले को लेकर कई फैंस नाखुश दिखे और उन्होंने इस पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की। लोगों ने सुझाव देते हुए कहा कि अश्विन को कप्तानी सौंपने के बाद टीम का नाम किंग्स-11 मद्रास कर दिया जाना चाहिए।

भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबज ने किंग्स-11 पंजाब के फेसबुक पेज पर खुलासा किया कि अश्विन ही वह शख्स होंगे, जो टीम का नेतृत्व करेंगे। वहीं, टीम के एक खिलाड़ी का कहना है कि लोग उम्मीद कर रहे थे कि टीम की कमान युवराज सिंह संभालेंगे। युवराज सिंह टूर्नामेंट के शुरुआती सीजन में टीम के कप्तान रहे थे। किंग्स-11 पंजाब अभी तक टूर्नामेंट जीतने में नाकामयाब रही है। ऐसे में अश्विन को कप्तानी सौंपने के ऐलान पर फैंस भड़क उठे और उन्होंने टीम का नाम बदलने का सुझाव दे डाला। वहीं, एक फैन का कहना था कि फ्रैंचाइजी ने युवराज सिंह के साथ धोखा किया है। कप्तानी की जिम्मेदारी युवराज सिंह को दे देनी चाहिए।

संबंधित खबरें

वीरू ने इसी के साथ यह भी बताया कि आखिर क्यों अश्विन को ही कप्तानी की कमान सौंपी गई। पूर्व सलामी बल्लेबाज के अनुसार, टीम प्रबंधन ने दीर्धकालिक विकल्प के रूप में अश्विन को टीम का कप्तान बनाया है। बकौल सहवाग, “मैं भी हमेशा से चाहता था कि कोई गेंदबाज ही कप्तान बने, क्योंकि वही खेल को किसी और के मुकाबले ज्यादा समझता है। मैं वसीम अकरम, वकार यूनुस और कपिल देव का बड़ा फैन रहा हूं। ये सभी गेंदबाज थे। कप्तान के रूप में इन्होंने टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया था।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *