Bhuvi death bowling Bhuvneshwar Kumar proved why he is the best as he stifled the RCB batters in the match-SRH vs RCB: आखिरी ओवर में छीन ली जीत, भुवनेश्वर कुमार ने यूं डुबाई आरसीबी की लुटिया

आईपीएल के 11 वें संस्करण में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के भुवनेश्वर कुमार ने शानदार गेंदबाजी कर जीत छीन ली। आखिरी ओवर में विराट कोहली की टीम बेंगलुरु को 12 रन चाहिए थे, मगर कसी हुई गेंदबाजी करते हुए भुवनेश्वर ने फिर जता दिया क्यों वे आखिरी ओवर में भी किफायती गेंदबाजी कर मैच जिताने के लिए जाने जाते हैं। भुवनेश्वर आईपीएल में दो बार के परपल कैप विजेता भी रह चुके हैं।आखिरी क्षणों में भुवनेश्वर कुमार की घातक गेंदबाजी देखकर दर्शक रोमांचित रहे।

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच मुकाबला आखिरी गेंद तक खिंचा। 20 वें ओवर में बेंगलुरु को 11 रन बराबरी और 12 रन जीतने के लिए चाहिए थे। पिच पर उस वक्त बेंगलुरु के मनदीप सिंह और डि ग्रैंडहोम थे। कप्तान केन विलियम्सन ने भुवनेश्वर कुमार पर भरोसा जताते हुए उन्हें गेंदबाजी की बागडोर सौंपी। भुवी की पहली गेंद का सामना डि ग्रैंडहोम ने किया, जिसे वह लॉन्ग ऑन की ओर से खेलने में सफल रहे। हालांकि इस पर एक ही रन से संतोष करना पड़ा। दूसरी गेंद यॉर्कर करने की कोशिश की मगर मनदीप ने लॉन्ग ऑन पर शॉट खेलकर दो रन चुरा लिए। अब चार गेंदों पर नौ रन चाहिए थे।

तीसरी गेंद को मनदीप ने फाइन लेग में खेलकर एक रन लिए। चौथी गेंद पर भी ग्रैंडहोम महज एक रन ले सके। अब दो गेंद पर सात रन बेंगलुरु को चाहिए थे। पांचवी गेंद मनदीप के पैड पर लगी तो लेग बाई के रूप में दोनों बल्लेबाजों ने एक रन लिया।आखिरी गेंद पर छह रन चाहिए थे। मगर इस बार भुवनेश्वर कुमार ने घातक यॉर्कर का इस्तेमाल कर ग्रैंडहोम के स्टंप की गिल्लियां ही बिखेर दीं। इस प्रकार केन विलियम्सन की कप्तानी वाली सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने पांच रनों से विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैंलेंजर्स बेंगलुरु को पराजित कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *