Board of Control for Cricket BCCI website went down after lalit modi did not renew the domain – 18 घंटे तक बंद रही BCCI की वेबसाइट, ललित मोदी की गलती पर फैंस ने बोर्ड को जमकर लताड़ा

दुनिया के सबसे धनी क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई ने समय पर अपनी वेबसाइट के डोमेन को अपडेट नहीं कराया, जिसके कारण वेबसाइट करीब 18 घंटे तक बंद रही। यह डोमेन दो फरवरी 2006 से दो फरवरी 2019 तक वैध था। इसको अपडेट करने की तिथि हालांकि तीन फरवरी 2018 थी, लेकिन इसका नवीनीकरण समय पर नहीं कराया गया। इसके अलावा सबसे ज्यादा शर्मनाक बात यह रही कि वेबसाइट रविवार को उस वक्त ऑफलाइन हो गई, जिस वक्त भारतीय क्रिकेट टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सुपर स्पोर्ट पार्क मैदान में दूसरा वनडे मैच खेल रही थी। हालांकि सोमवार को वेबसाइट ने एक बार फिर से काम करना शुरू कर दिया है और ऐसा लग रहा है कि बीसीसीआई ने इस मामले को हल कर लिया है।

बीसीसीआई ने ललित मोदी पर आर्थिक अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए साल 2010 से बैन लगा रखा है और मोदी फिलहाल लंदन में रह रहे हैं, लेकिन ऐसा लगता है कि बीसीसीआई से उनका रिश्ता पूरी तरह से खत्म हुआ हो। बेवसाइट बंद होने के मामले में बीसीसीआई ने जानकारी दी कि इसका डोमेन अभी भी ललित मोदी के नाम पर ही है और उन्होंने इसे अपडेट करवाने के लिए समय पर भुगतान नहीं किया, जिसके कारण वेबसाइट ऑफलाइन बंद हो गई थी।

संबंधित खबरें

बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि ललित मोदी ने साल 2006 में बीसीसीआई के लिए करीब 100 डोमेन खरीदे थे, इसलिए बोर्ड के पास इसे बदलने का विकल्प नहीं है। अधिकारी ने कहा, ‘मोदी ने डोमेन खरीदा था। भले ही बीसीसीआई ने उनके ऊपर बैन लगा दिया है, लेकिन अभी भी उनके पास ही इसका मालिकाना हक है।’ बता दें कि वेबसाइट पंजीकरण करवाने वाली रजिस्टर.काम और नेमजेट.काम ने इस डोमेन को सार्वजनिक बोली के लिये भी रखा है और उसे अब तक सात बोली मिली हैं जिनमें सबसे बड़ी बोली 270 डॉलर की है।

ललित मोदी की इस गलती के कारण पूरे बीसीसीआई को सोशल मीडिया पर लोगों की कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। क्रिकेट फैन्स ने बोर्ड पर ट्विटर पर जमकर भड़ास निलाकी। एक यूजर ने लिखा कि दुनिया के सबसे अमीर बोर्ड के पास अपनी साइट के डोमेन को अपडेट कराने के पैसे नहीं हैं। कुछ लोग इसे बोर्ड के लिए बेहद शर्मिंदगी वाली बात बता रहे हैं। यूएई के गल्फ न्यूज के एडिटर इन चीफ अब्दुल हामिद अहमद ने भी ट्वीट कर बीसीसीआई की आलोचना की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *