Ind vs SA: चौथा वनडे हार शिखर धवन ने युजवेंद्र चहल पर फोड़ा ठीकरा, नो बॉल को बताई वजह – Ind vs SA: Shikhar Dhawan gave the reason for Ujjwendra Chahal’s no-ball defeat

सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने कहा कि बारिश के कारण दो बार हुई बाधा अ‍ैर डेविड मिलर को जीवनदान देना भारत को भारी पड़ा, जिससे दक्षिण अफ्रीका ने उनकी वनडे में शानदार लय तोड़कर चौथे वनडे में पांच विकेट से जीत दर्ज की। मेजबानों की इस जीत से सीरीज अब भी जीवंत बनी हुई है जिसमें भारत 3-1 से आगे चल रहा है।

मिलर को दो बार जीवनदान मिले। एक बार डीप में उनका कैच छूटा तो दूसरी बार युजवेंद्र चहल की ‘नो बॉल’ गेंद पर वह बोल्ड हुए। वह उस समय क्रमश: छह और सात रन पर थे। उन्होंने इन जीवनदान का फायदा उठाते हुए महज 28 गेंद में 39 रन बनाए। धवन ने बीती रात मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘मुख्य कारण निश्चित रूप से कैच छोड़ना और फिर ‘नो बॉल’ के कारण एक विकेट नहीं मिलना रहा। इसके बाद से लय बदल गयी। वर्ना हम बहुत अच्छी स्थिति में थे।’

संबंधित खबरें

Indian Cricketers's girlfriends, Virat Kohli wife, Shikhar dhawan wife, Anushka Sharma, Aesha Dhawan

उन्होंने कहा, ‘निश्चित रूप से बारिश का भी असर पड़ा। हमारे स्पिनर उस तरह से गेंद को टर्न नहीं कर सके जैसा उन्होंने पिछले तीन वनडे मैचों में किया था। इससे अंतर पैदा होता है क्योंकि गेंद गीली हो जाती है। यही कारण है।’

भारतीय पारी के दौरान बारिश से 53 मिनट का खेल खराब हुआ, टीम दो विकेट पर 200 रन बना चुकी थी। हालांकि तब तक कोई ओवर नहीं कटा, लेकिन भारत ने अपनी लय गंवा दी और टीम सात विकेट पर 289 रन ही बना सकी। बाद में बारिश से एक और बाधा पड़ी, जिससे 113 मिनट का खेल खराब हुआ। इससे दक्षिण अफ्रीका को डवकर्थ लुईस पद्धति से 28 ओवर में 202 रन का संशोधित लक्ष्य दिया गया।

धवन ने कल अपने 100वें वनडे में शतक जड़ा था। उन्होंने कहा, ‘हमने पहले बल्लेबाजी का फैसला इसलिये किया क्योंकि शाम में गेंद यहां मूव कर रही है। यहां हवा का भी असर पड़ता है और इससे प्रभाव पड़ता है।’ धवन ने कहा कि मिलर ने जीवनदान का भरपूर फायदा उठाया और खेल का रूख ही बदल दिया। उन्होंने कहा, ‘मिलर बहुत बढ़िया खेला। भाग्य उसके साथ था। पहले उसका कैच छूटा और फिर वह नो बॉल पर बोल्ड हुआ। आमतौर पर स्पिनर नो बॉल नहीं फेंकते। उसने इन जीवनदान का पूरा फायदा उठाया और खेल का रूख ही बदल दिया।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *