India vs South Africa 4th ODI Match, Ind vs SA 4th ODI Match: Cricket Fans trolls team India former Captain Ms Dhoni for the poor show in 4th odi against south africa- Ind vs SA : सोशल मीडिया पर निराश फैंस ने फिनिशर पर उठाए सवाल, कहा- धोनी की धीमी बल्लेबाजी की वजह से मिली हार

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी टीम के लिए फिनिशर के रूप में जाने जाते रहे हैं। धोनी ने कई बार टीम को अपने दम पर मैच जिताने का काम किया है, लेकिन पिछले कुछ समय से धोनी ऐसा करने में असफल हो रहे हैं। धोनी के फैंस उनके खेलने के इस नए तरीके से ज्यादा खुश नजर नहीं आ रहे। बल्लेबाजी के दौरान पिच को समझने के लिए धोनी समय जरूर ले रहे हैं, लेकिन वो इसका उपयोग पहले की तरह नहीं कर पा रहे हैं। धोनी अंतिम के ओवरों में आक्रमक बल्लेबाजी कर टीम को हमेशा बड़े स्कोर की तरफ अग्रसर करने का काम किया है। आज भी धोनी जब बल्लेबाजी कर रहे होते हैं तो टीम और फैंस के दिल में जीत की उम्मीदें बनी रहती है। भारतीय टीम की कप्तानी पद से धोनी को हटाने की एक वजह उनकी बल्लेबाजी भी थी। टीम के चयनकर्ताओं का मानना था कि धोनी कप्तानी के प्रेशर की वजह से अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पा रहे हैं। धोनी की जगह टीम की कमान युवा विराट कोहली को दी गई, फैंस को उम्मीद थी कि शायद अब धोनी के बल्लेबाजी ऑर्डर में बदलाव हो, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

कोहली के साथ धोनी

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ चौथे वनडे में भारतीय टीम ठोस शुरुआत के बावजूद भी बड़े स्कोर तक नहीं पहुंच पाई और मैच हार गई। शिखर धवन और विराट कोहली ने जिस तरह की शुरुआत टीम को दी थी, उससे अंदाजा लगाया जा रहा था कि टीम 350 के करीब आसानी से पहुंच जाएगी। धवन और विराट के आउट होते ही बाकी बल्लेबाज भी लगातार आउट होते गए और टीम का स्कोर महज 289 रनों तक ही आकर ठहर गया।

धोनी ने अंतिम तक बल्लेबाजी जरूर की, लेकिन इस दौरान वह तेज गति से रन बनाने की बजाय विकेट बचाते हुए नजर आए। धोनी ने 43 गेंदों में 42 रन बनाए, जिसमें उन्होंने तीन चौके और एक छक्का लगाया। धोनी की धीमी पारी को देखने के बाद क्रिकेट फैंस चौथे वनडे में मिली हार का जिम्मेदार माही को मान रहे हैं। धोनी की तुलना 5 गेंदों में 23 रन बनाने वाले दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी एंडिले फेलुकवायो से कर उनका मजाक उड़ाया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *