IPL 2018: Gautam Gambhir steps down as Delhi Daredevils skipper, will Mumbai Indians’ Rohit Sharma follow suit? – IPL 2018: 6 में से 5 मैच हारी दिल्‍ली और मुंबई की टीम, गौतम गंभीर ने छोड़ी कप्‍तानी तो क्‍या रोहित भी नहीं रहेंगे कप्‍तान?

इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें संस्‍करण में दिल्ली डेयरडेविल्‍स की कप्‍तानी कर रहे गौतम गंभीर ने बुधवार (25 अप्रैल) को पद छोड़ दिया। उन्‍होंने कहा कि वह कप्‍तानी का दबाव नहीं झेल पा रहे हैं। उनकी जगह युवा बल्‍लेबाज श्रेयस अय्यर को कप्‍तानी सौंपी गई है। दिल्‍ली डेयर‍डेविल्‍स आईपीएल की अंक तालिका में सबसे निचले पायदान पर है। 6 मैचों में टीम ने सिर्फ एक मैच जीता है और 5 बार हार का सामना करना पड़ा है। टीम का नेट रन भी -1.097 है और उसके नॉकआउट दौर में पहुंचने की उम्‍मीदें लगभग खत्‍म हो चुकी हैं।

दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स जैसा हाल पिछली बार की विजेता मुंबई इंडियंस का भी है। रोहित शर्मा की कप्‍तानी में टीम ने 6 में से 5 मैच हारे में हैं। हालांकि राजस्‍थान रॉयल्‍स और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की तरह उसका नेट रन-रेट नकरात्‍मक नहीं है। टीम का नेट रन-रेट 6 मैचों के बाद +0.008 है। मुंबई के पास अब ज्‍यादा विकल्‍प नहीं हैं और नॉकआउट राउंड में पहुंचने के लिए उसे बाकी बचे 8 में से कम से कम 7 मैच जीतने होंगे।

संबंधित खबरें

कप्‍तानी छोड़ने का ऐलान करते वक्‍त गौतम ने जो कहा, उससे रोहित शर्मा पर दबाव बन सकता है। गंभीर ने कहा, “कई बार आप चीजों को बदलने के लिए ज्यादा उतावले हो जाते हैं। ऐसे में कई बार चीजें फिर आपके हिसाब से नहीं होती हैं। जब आप चीजों को बदलना चाहते तो काफी मुश्किल हो जाती है। मैं शायद अपने ऊपर आई जिम्मेदारी का दबाव नहीं झेल पाया। कई बार जब आप इस दबाव को नहीं झेल पाते हैं और इससे आपका और टीम का प्रदर्शन खराब होता है तो आपको इसकी जिम्मेदारी लेनी होती है।”

IPL की प्‍वॉइंट्स टेबल (25 अप्रैल, शाम 5 बजे तक अपडेटेड)

रोहित की टीम का प्रदर्शन इस साल बेहद घटिया रहा है, ऐसे में वह गौतम गंभीर के रास्‍ते पर जा सकते हैं। हालांकि उनके पक्ष में एक बात यह है कि 2013 से कप्‍तानी संभालने के बाद वह मुंबई को तीन बार खिताब जिता चुके हैं। मुंबई इंडियंस ने 2013, 2015 और 2017 में आईपीएल जीता है।

गौतम गंभीर के कप्‍तानी छोड़ने के फैसले की ऑस्‍ट्रेलिया के विश्‍व विजेता कप्‍तान रिकी पोंटिंग ने सराहना की है। उनके बयान में खराब प्रदर्शन कर रही टीमों के लिए संदेश भी था। पोंटिंग ने कहा, ”इस तरह का फैसला लेना हर किसी के लिए मुश्किल होता है। प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है और ऐसे में उन्हें लगता है कि टीम के पास अगर कोई है जो उसे आगे ले जा सकता है तो यह अच्छी बात है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *