Pakistani cricketer Misbah ul Haq says about his shot against India in 2007 ICC World Twenty Twenty final- जब अकेले बल्लेबाज ने भारत से लगभग छीन लिया था वर्ल्ड कप, मिस्बाह ने याद किया वाकया

तारीख 24 सितंबर 2007। स्थान जोहानिसबर्ग। मौका था टी-20 विश्वकप फाइनल का। जब परंपरागत प्रतिद्वंदी भारत और पाकिस्तान की टीमें एक दूसरे से खिताब जीतने के लिए भिड़ीं थीं।दोनों देशों के प्रशंसक मुकाबले को नहीं भूल सकते, जिसका नतीजा दोनों टीमों के बीच पेंडुलम की तरह झूलता दिख रहा था। हालांकि सांसें रोक देने वाले मुकाबले में आखिरकार भारत ने पाकिस्तान को हरा दिया था। 2007 के उस फाइनल मुकाबले को पाकिस्तानी बल्लेबाज मिस्बाह-उल-हक ने याद किया है।

तब महेंद्र सिंह धोनी भारत की टी-20 टीम के नए कप्तान बने थे। वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले में जीत के लिए पाकिस्तान को आखिरी ओवर में 13 रन चाहिए थे। धोनी ने गेंदबाजी की कमान जोगिंदर शर्मा को सौंपी। पाकिस्तान के हाथ में एक ही विकेट था, मगर क्रीज पर भरोसेमंद बल्लेबाज मिस्बाह-उल-हक जमे थे। जोगिंदर शर्मा की दूसरी गेंद पर मिसबाह ने छक्का जड़ दिया तो भारत के हाथ से मैच फिसलता दिखाई दिया। अब चार गेंदों पर छह रन चाहिए थे। तीसरी गेद को अपने चिर-परिचित शैली में मिसबाह ने शार्ट फाइन लेग पर खेला। गेंद हवा में थी और दर्शकों की सांसें मानो अटक गईं हों….इस बीच गेंद श्रीसंत के हाथों में समा जाती है। इस तरह से भारत ने एक बार फिर विश्वकप के किसी मुकाबले में पाकिस्तान को पराजित कर दिया। इसी के साथ नए कप्तान धोनी के नेतृत्व में अपेक्षाकृत अनुभवहीन टीम टी-20 विश्वकप का विजेता बन जाती है।

बड़ी खबरें

यूनाइटेड किंगडम में आयोजित एक इवेंट में अपने क्रिकेट करियर के उतार-चढ़ाव पर बोलते हुए मिसबाह उल हक ने कहा-2007 के टी-20 विश्वकप फाइनल मुकाबले में भारत के खिलाफ खेले गए शॉट को कोई पछतावा नहीं है। यह कुछ दिनों तक तो दुख देता रहा, मगर बाद में मैं भूल गया। इस इवेंट में दुनिया के श्रेष्ठ बल्लेबाजों पर बात करते हुए मिसबाह उल हक ने विराट कोहली, हासिम अमला, हसी और एबी डि विलियर्स का नाम लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *