pioneer of reverse swing pakistan bowler Sarfraz Nawaz said that reverse swing is an art over Ball tampering row – बॉल टेम्परिंग विवाद: पाकिस्तानी क्रिकेटर बोले- रिवर्स स्विंग कला है

ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका की क्रिकेट टीमों के बीच हो रही टेस्ट सीरीज के दौरान क्रिकेटर कैमरन बैनक्रॉफ्ट गेंद से छेड़छाड़ करते हुए पाए गए थे, जिसके बाद से ही बॉल टेम्परिंग का मुद्दा छाया हुआ है। ऑस्ट्रेलिया ने जहां इस मामले के सामने आने के बाद स्टीव स्मिथ को कप्तान पद से हटा दिया तो वहीं डेविड वॉर्नर को भी उपकप्तान का पद छोड़ना पड़ा। वहीं दोनों क्रिकेटर्स के ऊपर एक-एक साल का बैन भी लगा दिया गया। साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने बैनक्रॉफ्ट के ऊपर 9 महीने का बैन लगाया है। तीसरे टेस्ट मैच के दौरान बैनक्रॉफ्ट का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें वह सैंडपेपर जैसी कोई चीज अपने लोवर के अंदर डालते दिख रहे थे। वीडियो सामने आने के बाद इसकी जांच की गई, जिसमें स्टीव स्मिथ ने बॉल टेम्परिंग करने की बात स्वीकार कर ली थी। उन्होंने कहा था कि गेंद को रिवर्स स्विंग कराने के लिए छेड़छाड़ की गई थी।

संबंधित खबरें

आपको बता दें कि रिवर्स स्विंग को क्रिकेट जगत में हमेशा से ही शक की निगाहों से देखा जाता रहा है। हालांकि इस मामले पर रिवर्स स्विंग का जनक कहे जाने वाले पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज सरफराज नवाज का कहना है कि गेंद को रिवर्स स्विंग कराना एक कला है। एएफपी के मुताबिक सरफराज ने कहा, ‘रिवर्स स्विंग को चीटिंग कहना गलत है। गेंद से छेड़छाड़ किए बिना ही आप रिवर्स स्विंग करा सकते हैं।’ उन्होंने आगे कहा, ‘किसी नई गेंद को आप स्विंग करा सकते हैं और पुरानी गेंद को आप रिवर्स स्विंग करा सकते हैं। यह बात सिद्ध की जा चुकी है कि रिवर्स स्विंग एक वैज्ञानिक तथ्य है। रिवर्स स्विंग एक कला थी और हमेशा रहेगी।’

सरफराज ने इस मुद्दे पर आगे कहा, ‘जब मैंने यह कला इमरान खान को दी तब उन्होंने इसे और विकसित किया। इमरान ने इस कला को वसीम अकरम और वकार यूनिस को सिखाया। उस वक्त भी हर कोई इसे चीटिंग कहते थे, लेकिन जब इंग्लिशमैन ने रिवर्स स्विंग करना शुरू किया तब इसे कला कहा जाने लगा। यह एक कला थी और रहेगी, लेकिन छेड़छाड़ करके रिवर्स स्विंग कराना चीटिंग है। यही चीटिंग ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हो रहे टेस्ट मैच में की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *