Rahul Dravid went to Pakistani dressing room to boost opponents morale after humiliating loss in Under 19 World Cup Semifinal match – अंडर 19 वर्ल्‍ड कप: सेमीफाइनल जीतने के बाद पाकिस्‍तानी ड्रेसिंग रूम में गए थे राहुल द्रविड़, जानिए क्‍या कहा

अपने जमाने के दिग्गज बल्लेबाज रहे राहुल द्रविड़ ने एक बार फिर से खेल भावना का बेहतरीन नमूना पेश किया है। इसका खुलासा पाकिस्तान अंडर-19 टीम के मैनेजर नदीम खान ने खुद किया है। दरअसल, यह वाकया अंडर-19 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच से जुड़ा है। विश्व कप के दूसरे सेमीफाइलन में दो चिर प्रतिद्वंद्वी भारत और पाकिस्तान की टीमें आमने-सामने थीं। भारत ने पाकिस्तान को सौ रन के अंदर ही समेट कर बुरी तरह से हराया था। मैच समाप्त होने के बाद भारतीय टीम के कोच राहुल द्रविड़ पाकिस्तानी टीम के ड्रेसिंग रूम में पहुंच गए थे। उन्होंने पड़ोसी देश के यंग प्लेयर्स का हौसला बढ़ाया था। नदीम खान ने राहुल द्रविड़ की इस खेल भावना की खूब तारीफ की है। उन्होंने कहा, ‘उन्होंने बेहतरीन भावना का परिचय दिया था। इससे हमारे मन में द्रविड़ का स्थान और बढ़ा है।’ साथ ही नदीम ने पाकिस्तान में युवा क्रिकेटरों की स्थिति में सुधार के लिए काफी कुछ करने की जरूरत भी बताई।

संबंधित खबरें

राहुल द्रविड़ के निर्देशन और पृथ्वी शॉ की कप्तानी में भारत की युवा क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया को हरा कर अंडर-19 वर्ल्ड कप पर कब्जा किया था। इससे पहले सेमीफाइनल में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 272 रनों का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया था। भारत की ओर से शुभम गिल ने महज 94 बॉल पर नाबाद 102 रन ठोक डाले थे। जवाब में उतरी पाकिस्तानी टीम महज 69 रनों पर ही ढेर हो गई थी। इस तरह भारत ने यह मैच 203 रनों से जीत लिया था। हार से पाकिस्तानी टीम का मनोबल बुरी तरह से टूट गया था। ऐसे में राहुल द्रविड़ ने खेल भावना का परिचय देते हुए खुद विपक्षी टीम के ड्रेसिंग रूम में जाकर युवाओं की हौसलाफजाई की थी। इससे पहले नदीम खान ने कहा था कि भारत के खिलाफ मैच से पहले पाकिस्तानी प्लेयर्स पर जादू-टोना कर दिया गया था। उन्होंने कहा था, ‘ऐसा लग रहा था कि हमारे बल्लेाबजों को इस बात का पता ही नहीं चल रहा था कि मैदान पर क्या हो रहा है। वे दबाव से निपटने में भी पूरी तरह नाकाम रहे थे।’ मालूम हो कि नदीम पाकिस्तानी टेस्ट टीम का हिस्सा रह चुके हैं। उन्होंने वर्ष 1999 में भारत का दौरा भी किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *