sachin tendulkar share intresting memory about his popularity during roja movie – रोजा फिल्म देखने कुछ इस तरह पहुंचे थे सचिन तेंदुलकर, हुआ कुछ ऐसा कि बीच फिल्म से पड़ा लौटने

सचिन तेंदुलकर को भारत में क्रिकेट के भगवान का दर्जा हासिल हैं। यकीनन ये दर्जा पाकर कोई भी खिलाड़ी अपने आप को गौरवान्वित महसूस करेगा। लेकिन ये कम ही लोग जानते होंगे की अपनी इस लोकप्रियता के कारण कई बार सचिन को परेशानी का भी सामना करना पड़ा। खुद सचिन तेंदुलकर ने इस बात का खुलासा किया है कि किस तरह से एक बार वह मूवी थिएटर में फिल्म भी नहीं देख पाए थे। हाल ही में तेंदुलकर ने खुलासा करते हुए बताया कि साल 1994 में उन्होंने अपने परिवार के साथ रोजा फिल्म देखने का फैसला किया। फिल्म देखने वालों में सचिन खुद, उनकी पत्नी, सचिन के ससुर और कुछ दोस्त शामिल थे। सचिन ने बताया कि वह वर्ली में एक थिएटर में फिल्म देखने गए थे।

सचिन ने कहा कि उन्होंने चश्मे और नकली दाढ़ी लगायी हुई थी, ताकि कोई उन्हें पहचान ना सके। लेकिन फिल्म के बीच में ही उनका चश्मा गिरकर टूट गया। इसके बाद भी सचिन ने खुद की पहचान छिपाने की कोशिश की, लेकिन आखिरकार लोगों ने उन्हें पहचान ही लिया और इसके बाद सचिन और उनके परिवार को फिल्म अधूरी छोड़कर ही वापस लौटना पड़ा। सचिन तेंदुलकर ने यह खुलासा गौरव कपूर के शो ब्रेकफास्ट विद चैंपियंस में किया है। सचिन तेंदुलकर ने करीब 24 सालों तक क्रिकेट की दुनिया पर राज किया और साल 2013 में क्रिकेट की दुनिया को अलविदा कह दिया।

बड़ी खबरें

सचिन तेंदुलकर ने अपने क्रिकेट करियर में टेस्ट क्रिकेट में 15921 रन बनाए, वहीं वनडे क्रिकेट में सचिन के नाम 18426 रन अपने नाम किए। सचिन के नाम सभी फॉर्मेट में शतकों का शतक भी शामिल है, जिनमें से 51 शतक टेस्ट मैच में और 49 शतक वनडे में शामिल हैं। अपनी दमदार रिकॉर्ड्स के कारण ही सचिन दुनिया के महानतम बल्लेबाज माने जाते हैं। फिलहाल सचिन आईपीएल में मुंबई इंडियंस के साथ जुड़े हैं और हाल ही में राज्यसभा सांसद के पद से रिटायर हुए हैं। सचिन अब क्रिकेट के साथ ही कई सामाजिक कार्यों से भी जुड़े हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *