Shahid afridi says- Even if they call me, I won’t go to the IPL. My PSL is the biggest – शाहिद अफरीदी ने कहा- बुलाएंगे तो भी IPL में नहीं जाऊंगा, मेरा PSL उसको पीछे छोड़ देगा

पाकिस्तानी क्रिकेटर और पाक क्रिकेट के कप्तान रह चुके शाहिद अफरीदी ने भारत के खिलाफ अपमानजनक ट्वीट किया है। शाहिद अफरीदी ने कश्मीर में पाक प्रायोजित आतंकवाद का बचाव करते हुए कहा है कि भारत कश्मीर में बेगुनाहों की हत्या करवा रहा है। अफरीदी के इस ट्वीट के बाद से भारत में उनके प्रति काफी गुस्सा है। यहां तक कि क्रिकेट जगत के कई दिग्गज खिलाड़ियों ने भी अफरीदी के इस बयान की कड़ी निंदा की। अब अफरीदी ने कश्मीर के बाद आईपीएल को लेकर भी अपना निशाना साधा है। शाहिद अफरीदी ने ट्वीट करते हुए लिखा- “अगर वो मुझे बुलाते हैं, तो भी मैं आईपीएल में नहीं जाऊंगा। मेरा पाकिस्तान सुपर लीग बड़ा है और एक दिन वो आईपीएल को भी पीछे छोड़ देगा। मैं पीएसएल का लुत्फ उठा रहा हूं। मुझे आईपीएल की कोई जरूरत नहीं है। मेरा इसके प्रति लगाव नहीं है और ना ही कभी झुकाव रहा है।”

संबंधित खबरें

शाहिद अफरीदी मंगलवार (3 अप्रैल) को ट्वीट में लिखा था कि, “भारत के कब्जे वाले कश्मीर में दुखद और चिंताजनक हालात हैं, वहां पर दमनकारी सत्ता द्वारा बेगुनाहों को गोली मारी जा रही है इसका मकसद आत्म निर्णय और आजादी की आवाज को कुचलना है, आश्चर्य होता है कि UN और दूसरी अंतरराष्ट्रीय संस्थाएं कहां हैं और ये संस्थाएं खूनखराबा रोकने के लिए कोई कोशिश क्यों नहीं कर रही है।” शाहिद अफरीदी का ये ट्वीट जम्मू कश्मीर में भारत की उस कार्रवाई के बाद आया जब सुरक्षा बलों ने घाटी में इस साल के सबसे बड़े ऑपरेशन में 13 आतंकियों को ढेर कर दिया था।

दिग्गज क्रिकेटर्स ने की आलोचना: गौतम गंभीर समेत भारतीय टीम के कप्तान विराट ने भी इसकी निंदा कर चुके हैं। विराट ने कहा, “एक भारतीय होने के नाते आप वह कहते हैं जो आपके देश के लिए सबसे अच्छा होता है। मेरे हित हमेशा देश हित के लिए हैं। यदि कोई इनका विरोध करता है तो मैं कभी उनका समर्थन नहीं करूंगा। कुछ मामलों पर टिप्पणी करना उनकी निजी पसंद हो सकता है। लेकिन जब तक मुझे मामले की पूरी जानकारी न हो तब तक मैं उसमें नहीं पड़ता। निश्चित रूप से आपकी प्राथमिकता आपके देश के साथ ही रहती है।”

वहीं विश्व विजेता कप्तान कपिल देव ने भी कश्मीर के बयान को लेकर अफरीदी की खासी आलोचना की है। कपिल ने कहा, “वह कौन हैं? हम क्यों उन्हें इतना महत्व दे रहे हैं? हमें ऐसे लोगों को ज्यादा तवज्जो नहीं देना चाहिए।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *