Steve Smith decides not to challenge ball tampering sanctions imposed by Cricket Australia – बॉल टैम्परिंग पर बैन झेल रहे स्टीव स्मिथ ने उठाया बड़ा कदम

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ बॉल टैम्परिंग मामले में क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) द्वारा लगाए गए 12 माह के प्रतिबंध के खिलाफ अपील नहीं करेंगे। ईएसपीएनक्रिकइन्फो की रिपोर्ट के अनुसार, स्मिथ ने बुधवार को एक ट्वीट के जरिए यह जानकारी दी। स्मिथ ने अपने ट्वीट में कहा, “मैं इस घटना को भूलने और अपने देश का क्रिकेट में फिर से प्रतिनिधित्व करने के लिए कुछ भी करूंगा। मैंने जो कहा, मैं उस बात का मूल्य रखता हूं और मैं टीम के कप्तान के रूप में इस घटना की पूरी जिम्मेदारी लेता हूं।” अपने ट्वीट में स्मिथ ने कहा, “मैं इस प्रतिबंध के खिलाफ अपील नहीं करूंगा। सीए ने यह प्रतिबंध एक कड़ा संदेश देने के लिए लगाया है और मैंने इसे स्वीकार किया है।”

स्मिथ की ओर से इस प्रतिबंध को स्वीकार किए जाने का मतलब है कि वह अप्रैल, 2019 में ही क्रिकेट जगत में वापसी कर पाएंगे। इसके दो माह बाद इंग्लैंड में विश्व कप टूर्नामेंट का आगाज होगा। बता दें कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली गई टेस्ट सीरीज के तीसरे मैच में स्मिथ, पूर्व उप-कप्तान डेविड वॉर्नर और बल्लेबाज कैमरून बैंक्रॉफ्ट को बॉल टैम्परिंग का दोषी पाया गया था और इस मामले की जांच के बाद स्मिथ तथा वॉर्नर पर 12 माह का प्रतिबंध लगाया गया, वहीं बैंक्रॉफ्ट पर नौ माह का प्रतिबंध लगा है। बैंकक्रॉफ्ट और वॉर्नर ने इस बात की अभी तक पुष्टि नहीं की है कि वे सीए के प्रतिबंध के खिलाफ अपील करेंगे या स्मिथ के नक्शे-कदम पर चलेंगे।

संबंधित खबरें

इससे पहले बॉल टैम्परिंग मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए स्मिथ ने अपने फैन्स से माफी भी मांग ली थी। उन्होंने मीडिया के सामने अपनी जिम्मेदारी मानते हुए कहा था, “मैं माफी मांगता हूं। ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में मैं घटना की पूरी जिम्मेदारी स्वीकार करता हूं। मैंने फैसला लेने में बड़ी गलती की और मैं इसके नतीजों को समझ सकता हूं। मैं शर्मिंदा हूं और दिल से माफी मांगता हूं।” अपनी बात बोलते हुए स्मिथ कैमरे के सामने रोने भी लगे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *