Steve Smith father said after ban his son wont need cricket kit for this year- स्‍टीव स्मिथ के पिता ने पैक कर दी है उनकी क्रिकेट किट, बोले- बेटे को साल भर तक इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर को बॉल टैंपरिंग मामले में दोषी पाए जाने पर ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट बोर्ड ने एक साल का बैन लगा दिया है। बॉल टैंपरिंग वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही फैन्स से लेकर क्रिकेट के दिग्गज इन खिलाड़ियों से खासा नाराज नजर आए। इन दिनों स्मिथ से जुड़ी एक और वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी के साथ वायरल हो रहा है। दरअसल, इस वीडियो में स्मिथ के पिता पीटर स्मिथ क्रिकेट किट और बैग पैक करते नजर आ रहे हैं। जब इस बारे में उनके पिता से पूछा गया तो उन्होंने कहा, ”अगले एक साल तक मेरे बेटे को इस किट बैग की जरूरत नहीं पड़ेगी, इस वजह से मैं इसे पैक कर रहा हूं”। इससे पहले स्मिथ ने गुरुवार को गेंद से छेड़खानी विवाद के लिए सभी से मांफी मांगी। इस दौरान मीडिया से बात करते हुए स्मिथ कई बार रो पड़े। उन्होंने कप्तान होने के नाते इस घटना की पूरी जिम्मेदारी ली और अपने किए पर मांफी मांगी। स्मिथ ने कहा, “मैं माफी मांगता हूं। ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में मैं घटना की पूरी जिम्मेदारी स्वीकार करता हूं। मैंने फैसला लेने में बड़ी गलती की और मैं इसके नतीजों को समझ सकता हूं। मैं शर्मिदा हूं और दिल से माफी मांगता हूं।”

संबंधित खबरें

Australian cricketer steve smith say I will do everything I can do to make up for my mistake and the damage it has caused. on ball tempering, Australian cricketer steve smith, Australian cricketer, steve smith, steve smith video, cricket video, ball tempering, स्टीव स्मिथ। (Photo Courtesy: ANI)

बता दें कि केपटाउन टेस्ट में गेंद से छेड़खानी के विवाद के बाद क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) ने स्मिथ, डेविड वार्नर को 12 महीने के लिए प्रतिबंधित किया जबकि सलामी बल्लेबाज कैमरून बेनक्रॉफ्ट को नौ महीने के लिए प्रतिबंधित किया है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में बेनक्रॉफ्ट को गेंद से छेड़खानी करते हुए कैमरे में कैद किया गया था। बाद में स्मिथ और बेनक्रॉफ्ट ने माना था कि यह टीम की योजना थी जिसमें वॉर्नर शामिल थे।

डेविड वॉर्नर और स्टीव स्मिथ पर बैन लगने की वजह से इस साल वो आईपीएल में भी हिस्सा नहीं लेंगे और टीमें उनकी जगह नई खिलाड़ी को टीम में लाने के बारे में विचार कर रही है। दोनों ही खिलाड़ी अपनी-अपनी टीम के कप्तान थे और ऐसे में उनके बाहर होने से टीम के मनोबल पर गहरा असर पड़ा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *