Yuvraj overall strike rate of IPL 11 to 91.42 which is the worst for any player in the league who has faced at least 50 deliveries this season- MI vs KXIP: युवराज सिंह ने बनाया इस सीजन का सबसे शर्मनाक रिकॉर्ड, फैंस ने धोया

आईपीएल सीजन 11 में युवराज सिंह को किंग्स इलेवन पंजाब ने बेस प्राइज 2 करोड़ रुपये में अपनी टीम में शामिल किया था। इस साल युवराज सिंह के पास आईपीएल में बेहतर प्रदर्शन कर वर्ल्डकप 2019 में अपनी दावेदारी भारतीय टीम में पेश करने का आखिर मौका है। युवराज सिंह अभी तक इस सीजन फ्लॉप रहे हैं, बल्ले और गेंद दोनों से ही युवी कोई कमाल नहीं दिखा पा रहे हैं। हालांकि, युवी के इस प्रदर्शन का असर पंजाब की टीम पर ज्यादा देखने को नहीं मिला है। इसकी वजह पंजाब के दूसरे बल्लेबाजों का जबरदस्त फॉर्म में होना है। इस टूर्नामेंट में खेले गए 7 मुकाबलों में युवराज सिंह 12.80 के खराब औसत के साथ महज 64 रन बनाने में कामयाब रहे हैं। इस दौरान युवराज का स्ट्राइक रेट भी 100 से नीचे 91.42 का रहा है। इस सीजन कम से कम 50 गेंदों का सामना करने वाले खिलाड़ियों पर नजर डाले तो युवराज सिंह का रिकॉर्ड सबसे खराब रहा है। पंजाब ने युवी के फॉर्म को देखते हुए एक मैच में उन्हें बाहर का रास्ता भी दिखाया था।

संबंधित खबरें

yuvraj singh युवराज सिंह ने कहा है कि वह 2019 के बाद संन्यास पर कोई फैसला ले सकते हैं। (image source-PTI)

हालांकि, मुंबई के खिलाफ शुक्रवार को खेले गए मुकाबले में युवी को एक बार फिर प्लेइंग इलेवन में जगह दी गई। युवराज सिंह के फॉर्म को देखते हुए उनकी जगह दूसरे खिलाड़ियों को मौका दिया जा सकता है। पंजाब के कप्तान आर अश्विन मनोज तिवारी और मयंक डागर जैसे खिलाड़ी को आजमा सकते हैं। वहीं मुंबई से मिली हार के बाद पंजाब की टीम को आने वाले मैचों के दौरान प्लेइंग इलेव का चयन काफी सोच-समझकर करना होगा।

मुंबई से मिली हार के बाद कप्तान अश्विन ने भी अपने मिडल ऑर्डर बल्लेबाजों को हार का जिम्मेदार ठहराया। वहीं किंग्स के फैन्स भी नहीं चाहते कि इस फॉर्म में युवराज को आने वाले मुकाबलों में मौका दिया जाए। युवराज सिंह की पारी को देख सोशल मीडिया पर फैन्स उन्हें क्रिकेट छोड़ने की सलाह दे रहे हैं। युवराज सिंह ने एक बयान में कहा था कि वह संन्यास के बारे में अगले साल सोचेंगे, लेकिन मौजूदा हालत को देखते हुए लगता है कि युवी 2019 से पहले भी रिटायरमेंट का ऐलान कर सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *