Baba Ramdev’s Patanjali more bid for Ruchi Soya Industries, Godrej Agrovet, Adani Wilmar and Emami Agrotech in the race – अडानी और गोदरेज से भी ज्‍यादा बाबा रामदेव की पतंजल‍ि की बोली

योग गुरु रामदेव की पतंजलि एक एफएमसीजी कंपनी को खरीदने की तैयारी में है। यह कंपनी रुचि सोया इंडस्ट्रीज है। इसे खरीदने की दौड़ में रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद, गोदरेज एग्रोवेट, अदानी विल्मर और इमामी एग्रोटेक हैं। इसे खरीदने के लिए बोली लगाने वाली कंपनी बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद भी है। रुचि सोया पर कर्ज बहुत ज्यादा हो गया है। एएनआई की रिपोर्ट में कहा गया है कि पतंजलि आयुर्वेद का टारगेट खाद्य तेल में एक प्रमुख प्लेयर बनना है। सोयाबीन तेल के लिए रुचि सोया को खरीदने के लिए कंपनी ने सबसे ज्यादा बोली लगाई गई है।

पतंजलि आयुर्वेद और रुचि सोया का पहले से ही ऑयल रिफाइनिंग और पैकेजिंग का समझौता है। इससे पहले बताया गया था कि पतंजलि आयुर्वेद रुचि सोया की पूरी संपत्तियों को लेने की उत्सुक थी और अपनी बोली बढ़ा दी। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की दूसरी लिस्ट के मुताबिक कंपनी पर करीब 10,000 करोड़ रुपए का बकाया था। दिसंबर 2017 में रुचि सोया इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने कॉर्पोरेट दिवालियापन रिजॉल्यूशन प्रोसेस (सीआईआरपी) शुरू किया था।

संबंधित खबरें

रुचि सोया अपने मेन्युफेक्चरिंग प्लांट के लिए इंडस्ट्री के बड़े प्लेयर्स को आकर्षित कर रही है और इसके प्रमुख ब्रांडों में न्यूट्रिला, महाकोश, सनरिच, रुचि स्टार और रुचि गोल्ड शामिल हैं। फॉर्च्यून ब्रांड के तहत खाना बनाने के तेल को बेचने वाली अडानी विल्मर ने भी बोली लगाई है। एक दूसरे बोली लगाने वाले इमामी एग्रोटेक ने कहा कि एक विस्तार योजना पहले से ही चल रही है, रुचि सोया की असेट्स हमारे ग्रोथ ट्रेजेक्ट्री में शामिल होंगे। रुचि सोया के साथ, बाबा रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद हिंदुस्तान यूनिलीवर से आगे निकल सकती है। इसके बाद 3-4 साल में यह एफएमसीजी प्रमुख हिंदुस्तान यूनिलीवर से ज्यादा कारोबार करने वाली बन सकती है। पतंजलि आयुर्वेद के सीईओ आचार्य बालकृष्ण ने हाल ही में ईटी को बताया था कि पतंजलि पिछले साल की तुलना में इस साल तेज रफ्तार से बढ़ेगी। उम्मीद है कि पतंजलि अगले 3-4 साल में हिन्दुस्तान यूनिलीवर से ज्यादा करोबार करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *