Capgemini employees’ rant against company light up social media – आईटी कंपनी ने दिया सिर्फ 0.5 पर्सेंट का इंक्रीमेंट तो भड़के कर्मचारी, बोले- चाय की दुकान लगानी पड़ेगी

दुनिया के 40 देशों में आईटी सेवाएं देने वाली कंपनी कैपजेमिनी के कर्मचारियों ने कंपनी के खिलाफ ट्विटर पर मोर्चा खोल दिया है। शनिवार (28 अप्रैल) को जब कंपनी ने अपने इन्क्रीमेंट स्‍ट्रक्‍चर का एलान किया तो कर्मचारी भड़क गए। आरोप है कि कंपनी ने उन्‍हें ‘जीरो हाइक’ दी है। सोशल मीडिया पर प्रोफेशनल्‍स ने बेहद कम इन्क्रीमेंट मिलने पर नाराजगी जताई। कर्मचारियों का दावा है कि 2018 की पहली तिमाही में कंपनी ने 7 प्रतिशत से ज्‍यादा की दर से मुनाफा कमाया, इसके बावजूद उन्‍हें ‘0.5 पर्सेंट से जीरो हाइक’ दी गई।

पिछले सप्‍ताह टाटा कंसल्‍टेंसी सर्विसेस के कर्मचारियों ने भी फ्लैट बेस सैलरी के खिलाफ फेसबुक पर नाखुशी जताई थी। कैपजेमिनी कर्मचारियों का कहना है कि एक तरफ तो कैमजेमिनी ने शानदार ग्रोथ के साथ साल की शुरुआत की है, दूसरी तरफ आप 1 फीसदी की वेतन बढ़ोत्‍तरी देने में भी सक्षम नहीं हैं। कर्मचारियों ने ट्विटर पर #CapgeminiBetraysEmployees हैशटैग चलाकर कंपनी के खिलाफ ट्वीट करना शुरू कर दिया है।

बड़ी खबरें

कई यूजर्स ने इसे ‘भारतीय कर्मचारियों को दरकिनार’ करने की रणनीति बताया तो कुछ ने कंपनी को ‘आर्थिक मदद’ देने का ऑफर दिया, क्‍योंकि कंपनी ने एरियर्स में तीन महीने का बोनस नहीं दिया है। एक यूजर ने कहा, ”सबसे एथिकल कंपनी कैमजेमिनी की वर्तमान सीटीसी में, हम सिर्फ आईआरसीटीसी की एक कॉपी अफोर्ड कर सकते हैं।” एक यूजर ने लिखा, ”भारत में आओ और आप कैपजेमिनी कर्मचारियों को चाय की दुकान लगाते पाओगे, क्‍योंकि वार्षिक वेतन वृद्धि जीरो है।” कई यूजर्स ने नए कर्मचारियों को कर्मचारियों को कंपनी न ज्‍वाइन करने की सलाह दी।

देखें कैसे फूटा कर्मचारियों का गुस्‍सा:

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *