ओलिंपिक में शिरकत करने वाली चीयरलीडर्स को नॉर्थ कोरियाई तानाशाह ने बनाया सेक्स स्लेव! – winter olympic north korean cheerleaders are kim jong un sex slave forced to strip womens

शीतकालीन ओलिंपिक में नॉर्थ कोरियन चीयरलीडर्स को एक पूर्व राजनेता ने किम जोंग उन का सेक्स स्लेव बताया है। नॉर्थ कोरिया के पूर्व मिलिट्री म्यूजिशियन 42 वर्षीय ली सो यीन ने खुलासा किया है कि देश के राजनेताओं की होने वाली पार्टी में रोजाना सिंगर्स और डांसर्स के कपड़े उतरवाए जाते हैं और उनसे सेक्स सेवा ली जाती है। इसमें नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन, राष्ट्रपति किम योंग नम और निर्णय लेने वाली कमेटी के सदस्य शामिल रहते हैं। ब्लूमबर्ग से बातचीत के दौरान ली ने कहा, “नॉर्थ कोरिया के कला मंडल ने यहां आकर फैंसी डांस के साथ प्रदर्शन किया, लेकिन उन्हें न केवल किम जोंग उन के प्रचार के लिए ऐसा करना पड़ता है, बल्कि उन्हें राजनीतिक नेताओं को  यौन सेवाएं देनी पड़ती हैं।”

साल 2008 में नॉर्थ कोरिया से भागकर साउथ कोरिया में आकर बसने वाले ली ने कहा, “केंद्रीय राजनीतिक विभाग के लिए इन पार्टियों का रोजाना आयोजन किया जाता है। महिलाएं जब पार्टी में शिरकत करती हैं तो उन्हें कपड़े उतारने पड़ते हैं। उन्हें बिना कपड़े के रहने को कहा जाता है। इस तरह, वहां उन्हें शारीरिक प्रताड़ना दी जाती है।” ली के अलावा, साल 2009 में नॉर्थ कोरिया छोड़कर साउथ कोरिया में आकर बसे 54 वर्षीय किंम ह्यूंग सू ने भी इसकी पुष्टि की है कि वहां पर खिलाड़ियों को स्लेव बनाकर रखा जाता है।

संबंधित खबरें

उन्होंने कहा कि अगर एक शब्द में कहा जाए तो खिलाड़ियों को किम जोंग उन का स्पोर्ट्स स्लेव कहा जा सकता है। इतना ही नहीं, खिलाड़ियों के कोच को भी देश की सरकार और तानाशाह किम का स्लेव बनकर रहना पड़ता है। उन्होंने कहा कि नॉर्थ कोरिया में किम जोंग उन और उसका शासन ही सब कुछ है। खिलाड़ी और चीयरलीडर्स उनके स्लेव हैं। पूर्व चीयरलीडिंग स्क्वॉड की सदस्य हन शियो ही का कहना है कि चीयरलीडिंग स्क्वॉड को आर्मी ऑफ ब्यूटी कहा जाता है। बीबीसी से बातचीत में हन शियो ही ने कहा, “महिलाओं को उनकी सुंदरता देखकर चुना जाता है और उन्हें जबरन तीन महीने की ट्रेनिंग दी जाती है, जिसमें उनका ब्रेनवॉश किया जाता है और उन्हें हर बात मानने के लिए विवश कर दिया जाता है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *