नवाज शरीफ को गले लगाने की कीमत करीब डेढ़ लाख रुपये – Pakistan sends India a bill of rs 2.86 lac for pm narendra modi Lahore stopover on 25 december 2015 where he was received by former pm Nawaz Sharif navigation charges

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बहुचर्चित लाहौर यात्रा के बारे में एक दिलचस्प खुलासा हुआ है। इस यात्रा के लिए पाकिस्तान ने भारत से ‘रूट नैविगेशन’ चार्ज किया है, और इसके लिए भारत को लगभग एक लाख 49 हजार रुपये का बिल भेजा है। बता दें कि 25 दिसंबर 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अफगानिस्तान से अचानक पाकिस्तान पहुंचकर भारत समेत दुनिया को चौंका दिया था। तब लाहौर के अल्लामा इकबाल इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पीएम मोदी की आगवानी की थी और उनका गले लगाकर स्वागत किया था। यह तस्वीर काफी लोकप्रिय हुई थी। हालांकि अब पता चला है कि इंडियन एयरफोर्स के जिस विमान में पीएम मोदी सवार थे उस विमान को पाकिस्तान की धरती पर उतरने के लिए लगभग डेढ़ लाख रुपये भारत सरकार को चुकाने पड़े थे। यह जानकारी सूचना के अधिकार (आरटीआई) कानून के तहत दायर आवेदन के जवाब में दी गई है। आरटीआई कार्यकर्ता एवं अवकाशप्राप्त कमोडोर लोकेश बत्रा ने आरटीआई आवेदन दायर कर जानकारी मांगी थी।

संबंधित खबरें

लाहौर हवाई अड्डे पर पीएम नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के तत्कालीन पीएम नवाज शरीफ एक दूसरे को गले लगाते हुए।

पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायोग से आरटीआई कानून के तहत मिले रिकार्ड में यह जानकारी दी गई है। इसके अलावा पाकिस्तानी अधिकारियों ने 77,215 रुपये का ‘रूट नैविगेशन’ शुल्क तब लगाया जब मोदी ने 22-23 मई 2016 को ईरान की यात्रा के लिए भारतीय वायुसेना के विमान का इस्तेमाल किया। इसके साथ ही जब उन्होंने 4-6 जून 2016 को कतर की यात्रा की तो 59,215 रुपये का बिल ‘नैविगेशन शुल्क’ के रूप में जारी किया गया। इन दोनों ही यात्राओं के लिए मोदी का विमान पाकिस्तान के ऊपर से गुजरा। जानकारी में कहा गया है कि जून 2016 तक भारतीय वायुसेना के विमान का इस्तेमाल प्रधानमंत्री की 11 देशों-नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान, कतर, आस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, रूस, ईरान, फिजी और सिंगापुर यात्राओं के लिए किया गया। बत्रा ने पिछले साल अगस्त से लेकर 30 जनवरी 2018 तक मिले आरटीआई जवाबों की प्रति पीटीआई-भाषा को दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *