अमेरिका और भारत के '2 प्लस 2' बातचीत क्षेत्रीय शांति और स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण: चीन

<strong>बीजिंग:</strong> चीन ने शुक्रवार को कहा कि वह भारत और अमेरिका के बीच पहली बार ‘2 प्लस 2’ बातचीत को लेकर खुश है. चीनी सरकार ने आशा जताई कि दोनों देश क्षेत्रीय शांति और स्थिरता के लिए और ज्यादा प्रयास करेंगे.

गुरुवार को नई दिल्ली और वॉशिंगटन के बीच बैठक में कई महत्वपूर्ण रक्षा समझौते को दोनों देशों ने मंजूरी दी गई थी. बैठक में दोनों देशों ने मुक्त व खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र की दिशा में काम करने पर भी आपसी सहमति दर्ज की. चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि बीजिंग आशा करता है कि ‘दोनों पक्ष हिंद-प्रशांत क्षेत्र में स्वतंत्र नौवहन सुनिश्चित करने के लिए वास्तविक चीजें कर सकते हैं’.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता चुनयिंग ने कहा, “जहां तक अमेरिका और भारत के ‘2 प्लस 2’ बातचीत का सवाल है, हमने रिपोर्ट देखी है. हम दोनों के बीच द्विपक्षीय संबंध को देखकर खुश हैं. हम यह भी आशा करते हैं कि इस प्रक्रिया में वे लोग क्षेत्रीय शांति और स्थिरता के लिए और ज्यादा कार्य करेंगे”.

हाल के वर्षो में भारत और अमेरिका रणनीतिक रूप से एक-दूसरे के करीब आए हैं. भारत और अमेरिका के बीच बढ़ते इस सहयोग से चीन चिंतित है. चीन का मानना है कि वाशिंगटन चीन को नियंत्रित करने के लिए भारत का इस्तेमाल कर रहा है. चीन ने आरोप लगाया कि अमेरिका भारत के जरिए एशिया में दखलअंदाजी कर रहा है.

<code></code>

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *