पाकिस्तान में पैदा हुए अफगान, बांग्लादेशी शरणार्थियों को नागरिकता देगी इमरान सरकार

कराची: पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान ने घोषणा की है कि उनकी सरकार उन सभी अफगान और बांग्लादेशी शरणार्थियों को नागरिकता प्रदान करेगी, जिनका जन्म पाकिस्तान में हुआ है. एक्सप्रेस ट्रिब्यूनल की खबर के मुताबिक सरकार बनाने के बाद रविवार को अपने पहले दौरे पर कराची पहुंचे खान ने कहा कि पाकिस्तान में जन्में अफगान और बांग्लादेशी शरणार्थियों को नेशनल आइडेंटिटी कार्ड (एनआईसी) तथा पासपोर्ट दिए जाएंगे.

मीडिया में आई खबरों में खान के हवाले से कहा गया है, ”बांग्लादेश से आए ये गरीब प्रवासी 40 से भी अधिक वर्षों से यहां हैं, अब उनके बच्चे भी काफी बड़े हो गए हैं. हम उन्हें पासपोर्ट और आईडी कार्ड देंगे. यह हम उन अफगानियों को भी देंगे, जिनके बच्चे यहां पले और बड़े हुए, जो यहां जन्मे, हम उन्हें (नागरिकता) देंगे.”

इससे पहले शनिवार को पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने अफगानिस्तान की यात्रा पर एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया. दोनों देशों ने एक नए व्यापक संवाद के प्रति अपनी प्रतिबद्धता का वचन दिया.

पाकिस्तान में कितने शरणार्थी?

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) के मुताबिक पाकिस्तान में 13.9 लाख से ज्यादा अफगान शरणार्थी हैं. जिनमें से कई यहां 30 से भी ज्यादा वर्षों से रह रहे हैं. इसके अलावा यहां 2,00,000 बांग्लादेशी भी हैं. ज्यादातर बांग्लादेशी शरणार्थी कराची शहर के दक्षिणी भाग में रहते हैं. अधिकतर शरणार्थी पूर्वी पाकिस्तान के बांग्लादेश बनने के कारण पाकिस्तान में आ गए थे.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *