लेस्बियन महिला के परिवार ने जंजीर से बांध कर करवाया बलात्कार

नई दिल्ली: सु्प्रीम कोर्ट ने हाल ही में भारत में समलैंगिक को कानूनी मान्यता दी है.  लेकिन अभी भी दुनिया के कई देशों में समलैंगिकता को भूत और गंदी आत्माओं से जोड़ कर देखा जाता है. अफ्रीका के देश कैमरून में कुछ इसी तरह का मामला सामने आया है. दरअसल, कैमरून की राजधानी याओऊंडे में 14 साल की एक लड़की को उसके परिवार ने समलैंगिकता का भूत उतारने के लिए उसका बलात्कार करवा दिया.

मेरे परिवार ने करवाया मेरा रेप- पीड़िता

गौर करने वाली बात ये है कि लड़की को चर्च और स्कूल दोनों ही जगहों पर यह बताया गया था कि समलैंगिकता ना सिर्फ पाप है बल्कि ये एक जादू या फिर उसपर बुरी आत्मा का प्रकोप भी हो सकता है. लड़की ने एक न्यूज एजेंसी को बताया, “मैंने कभी अपनी तरह की लड़की आस पास नहीं देखी थी. मुझे लगा मुझ पर किसी बुरी आत्मा का असर है. जिसके बाद मैंने प्रार्थना करना शुरू कर दिया. लेकिन मुझे कामेयाबी नहीं मिली.”

उसने बताया कि चार साल बाद जब उसने अपने लेस्बियन होने का खुलासा किया तब उसके परिवार ने जंजीर में बांध कर एक आदमी (जिससे परिवार लड़की का शादी करवाना चाहता था) से उसका बलत्कार करवाया.

परिवार बनाता है समलैंगिकता दूर करने के लिए रेप की योजना

बता दें कि अफ्रीका के कई इलाकों में समलैंगिकता को दूर करने के लिए उसके बलात्कार की योजना परिवार की ओर से बनाई जाती है. ऐसा वो लोग करते हैं जो मानते है कि समलैंगिकता एक दिमागी बीमारी है और उसे इस तरह के इलाज के जरिए ठीक किया जा सकता है.

अंधेरें और टीन की छत के नीचे होता है हमारा बलात्कार- लेस्बियन्स

कैमरून के लेस्बियन्स ने मीडिया एजेंसी को बताया कि उनका बलात्कार कभी अंधेरें में तो कभी टीन की छत के नीचे किया जाता है. वहीं दूसरी ओर आम तौर पर परिवार कानून को अपने हाथ में लेकर अपने लेस्बियन्स और गे रिश्तेदारों का रेप करते हैं. कई बार उन्हें जान से मार भी दिया जाता है. जिसके बाद परिवार इस बात का जश्न भी मनाता है कि उसे बुरी आत्मा से मुक्ति मिल गई.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *