74 killed in California forest fire, 1,000 missing

सैन फ्रांसिस्को: अमेरिका के कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी भीषण आग में मरने वालों की संख्या 74 हो गई है जबकि 1,000 लोग लापता हैं. सीएनएन के मुताबिक, बट काउंटी के शेरिफ और कोरोनर कोरी होनिया ने शुक्रवार शाम को कहा कि कैम्प फायर में लगी आग से 1,011 लोग लापता हैं. इसे कैलिफोर्निया के इतिहास की सबसे भीषण आग कहा जा रहा है. कुल 74 मृतकों में से 71 उत्तरी कैलिफोर्निया में मारे गए जबकि तीन दक्षिणी कैलिफोर्निया की वुज्ले आगे में मारे गए.

कैम्प फायर से 9,700 घर और 146,000 एकड़ जमीन जलकर खाक हो गई. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप शनिवार को क्षेत्र का दौरा कर सकते हैं. गवर्नर जेरी ब्राउन और गेविन न्यूसम भी उनके साथ हो सकते हैं.

आग की वजह से हो रही है हवाई उड़ानों  में दिक्कत

जंगलों में लगी इस भीषण आग से निकले धुएं और कम दृश्यता की वजह से  सैन फ्रांसिस्को अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से करीब 200 उड़ानों में देरी हुई है. हवाईअड्डा के प्रवक्ता डग याकेल ने कहा कि शुक्रवार की दोपहर लगभग 15 प्रतिशत यानि 195 उड़ानों में औसतन 45 मिनट की देरी हुई. गुरुवार को, तकरीबन 500 उड़ानों में देरी हुई, जो हवाईअड्डे से कुल उड़ानों की करीब 40 फीसदी है. इस हवाईअड्डे से प्रतिदिन लगभग 1,250 उड़ानें भरी जाती हैं

गौरतलब है कि अमेरिका के कैलिफोर्निया प्रांत के जंगलों में लगी भीषण आग ने अब आसपास के शहरों को अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है, जिसमें बुट्टे काउंटी के ज्यादातर शहर शामिल हैं. इसी काउंटी के अंतर्गत आने वाला पैराडाइज शहर पूरी तरह तबाह हो चुका है. उन इलाकों में आपात स्थिति बनी हुई है. दमकलकर्मी आग पर काबू पाने के लिए लगातार जूझ रहे हैं. पिछले दो हफ्तों से बड़े पैमाने पर बचाव अभियान चलाए जा रहे हैं. आपको बता दें कि आठ नवंबर से धधकी इस आग को बुझाने में 3,300 दमकलकर्मी जुटे हैं. शुक्रवार तक 67 फीसदी आग पर काबू पाया गया.

नायडू के बाद अब ममता बनर्जी ने राज्य में CBI की खुली एंट्री रोकी, कहा- राजनीतिक हथियार बन चुकी है ये एजेंसी

पटना में आज उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी RLSP की बड़ी बैठक, NDA में रहने या छोड़ने का हो सकता है एलान

सबरीमाला मंदिर में बिना एंट्री के एयरपोर्ट से ही मुंबई लौटी तृप्ति देसाई, हिंदूवादी संगठनों ने बुलाया केरल बंद

यह भी देखें:


Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *