Amidst the Donald Trump’s withdrawal of the US troops from Syria Defense Secretary Jim Mattis resigns

वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन को तगड़ा झटका लगा है क्योंकि डिफेंस सेक्रेटरी जिम मैटिस ने बृहस्पतिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया. मैटिस ने ये फैसला ट्रंप के उस फैसले के ख़िलाफ़ लिया जिसके तहत ट्रंप सीरिया से अमेरिकी बलों को वापस बुला रहे हैं. ट्रंप ने अचानक से ये फैसाल लेते हुए कहा कि अमेरिका अब मीडिल ईस्ट की पुलिस का काम नहीं करेगा. वहीं, उन्होंने इस बात पर भी ज़ोर दिया की ISIS को हरा दिया गया है.

एक चिट्ठी में मैटिस ने ट्रंप से कहा, “ऐसा है कि आपको एक ऐसा डिफेंस सेक्रेटरी रखने का अधिकार है जिसके विचार आपसे मेल खाते हों. ऐसे में मुझे लगता है कि इस पद से हट जाना मेरे लिए सही रहेगा.” मैटिस ने सीरिया में अमेरिका के सुरक्षा बलों की मौजूदगी पर बल दिया था और ट्रंप द्वारा नाटो की आलोचना के बाद इसका गंठबंधन का बचाव किया था.

इस्तीफा अमेरिकी मीडिया वॉशिंगटन पोस्ट की उस रिपोर्ट के बाद आया जिसमें बताया गया था कि ट्रंप अफगानिस्तान में भी अमेरिकी हस्तक्षेप को काफी हद तक कम करने की सोच रहे हैं. मैटिस अगले साल फरवरी के अंत तक अपने पद पर बने रहेंगे जिससे ट्रंप को उनके पद पर किसी और को नॉमिनेट करने का पर्याप्त समय मिल सके. आपको बता दें कि ट्रंप के इस फैसले पर फ्रांस से लेकर जर्मनी तक ने सवाल उठाए हैं और उनसे ISIS की हार से जुड़े तथ्यों की भी मांग की गई है.

ट्रंप प्रशासन में हुए इस्तीफे और निकाले गए लोगों की एक लिस्ट

सीरिया से वापस आ रही अमेरिकी फौज

अमेरिकी प्रशासन ने आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के खिलाफ जीत का दावा कर सीरिया से अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाना शुरू कर दिया है. हालांकि, उसने सैनिकों की वापसी के विस्तृत कार्यक्रम की कोई जानकारी नहीं दी है. व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा सैंडर्स ने बुधवार को एक बयान में कहा, “हमारे बलों ने अभियान के अगले चरण में प्रवेश करने के साथ अमेरिका लौटना शुरू कर दिया है.”

उन्होंने दावा किया कि अमेरिका ने ‘क्षेत्रीय खिलाफत’ को हरा दिया है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी सेना के अभियान को जारी रखने के जिक्र के साथ पेंटागन ने व्हाइट हाउस के दावे को दोहराते हुए कहा कि अमेरिकी सेनाओं को वापस लाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. पेंटागन की प्रवक्ता डैना व्हाइट ने एक ट्वीट में कहा, “गठबंधन ने आईएस-नियंत्रित क्षेत्र को मुक्त करा दिया है लेकिन आईएस के खिलाफ अभियान खत्म नहीं हुआ है.”

जानकार सूत्रों ने बताया कि सभी अमेरिकी विदेश विभाग के कर्मियों को 24 घंटे के भीतर सीरिया से निकाला जा रहा है. वहीं, बुधवार दोपहर आयोजित एक प्रेस ब्रीफिंग के दौरान ट्रंप प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी ने पत्रकारों के सवालों का स्पष्ट तौर पर जवाब नहीं दिया कि प्रशासन कैसे सैनिकों को वापस लाना चाहता है या फिर इसके लिए क्या समय सीमा तय की गई है.

समाप्ति की ओर गृहयुद्ध
सीरिया का गृहयुद्ध साल 2011 में शुरू हुआ था और अब तक इसमें तीन लाख़ साठ हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत के अलावा लाख़ों लोग बेघर भी हुए हैं. सीरियाई युद्ध वैसे तो समाप्ति की ओर है और यहां ISIS की पकड़ भी लगभग ख़त्म हो गई है. लेकिन एक सवाल बना हुआ है कि क्या अमेरिका यहां रुककर पूरी तरह से चरमरा गए इस देश के लिए कोई राजनीतिक हल निकालने की कोशिश कर सकता था.

ये भी देखें

 मास्टर स्ट्रोक : फुल एपिसोड



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *