Donald Trump supports Juan Guaido Venezuela’s interim president bid, Wikileaks asks should Trump be replaced by Pelosi

काराकास: दुनिया की राजनीति में कुछ बेहद अभूतपूर्व हुआ है. वेनेजुएला के विपक्ष के नेता जुआन गुएडो ने ख़ुद को देश का अंतरिम राष्ट्रपति घोषित कर दिया है. उनके इस कदम को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का समर्थन हासिल है. इसकी वजह से समाजवादी राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के सामने आपातकालीन स्थिति पैदा हो गई है. लेकिन एक ट्वीट से ट्रंप के लिए भी बेहद असहज स्थिति पैदा हो गई है. ये ट्वीट अमेरिका समेत दुनिया भर के राजनीतिक और राजनयिक सीक्रेट्स का पर्दाफाश करने वाले विकिलीक्स ने किया है.

ओपिनियन पोल के तौर पर किए गए इस ट्वीट में विकिलीक्स ने पूछा है, “क्या तुर्की, वेनेजुएला, मैक्सिको, रूस, चीन जैसे बाकी देशों को कई विवादों में घिरे राष्ट्रपति ट्रंप की स्थिति को देखते हुए नैंसी पेलोसी को अमेरिका का अंतरिम राष्ट्रपति घोषणा कर देना चाहिए?”

विकिलीक्स ने अपने इस ट्वीट से ट्रंप द्वारा गुएडो की अंतरिम राष्ट्रपति बनने की घोषणा को मिले समर्थन पर निशाना साधा है. खुफिया जानकारी को लीक करने वाली ये संस्था इस ओर ध्यान खींचना चाहती है कि जैसे अमेरिका दूसरे देशों के लोकतंत्र से खिलवाड़ करता है अगर वैसा उसके लोकतंत्र के साथ हो तो कैसा रहेगा.

आपको बता दें कि अमेरिका दुनिया भर में सरकारें बनाने और गिराने के लिए बदनाम है. इस देश के ऊपर कई देशों की तनाशाह सरकारों तक के तख्तापलट का आरोप लगा है. इनमें इराक और लीबिया जैसे ताज़ा उदाहरण शामिल है. अमेरिका लंबे समय से वेनेजुएला में भी ऐसा ही करने की कोशिश कर रहा है.

अपका बता दें कि वेनेजुएला की मादुरो की सरकार ने अपने देश के सबसे बड़े व्यापारिक साझेदार अमेरिका के साथ सारे नाते तोड़ दिए हैं. जब से मादुरो ने शपथ ली है तब से उन्हें अंतरराष्ट्रीय आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. पिछले दो  हफ्तों में तो विपक्ष ने ख़ुद को और पुरज़ोर तरीके से हमलावर बनाया है.

बुधवार को विपक्ष ने उस मौके पर देशव्यापी प्रदर्शन किया जब 1958 में सेना के पिछले शासन के समाप्त होने का जश्न मनाया जाता है.  वहीं अमेरिका से संबंध तोड़ने की घोषणा करते हुए मादुरो ने काराकास में हजारों समर्थकों से कहा, ‘‘मैंने अमेरिका की साम्राज्यवादी सरकार से राजनयिक और राजनीतिक संबंध तोड़ने का फैसला किया है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘दफा हो जाओ! वेनेजुएला छोड़ो, ये इसी लायक हैं, लानत है तुम पर.’’ उन्होंने अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल को देश छोड़ने के लिए 72 घंटे का समय दिया है. दरअसल विपक्ष के नियंत्रण वाली विधायिका के प्रमुख गुएडो ने हजारों समर्थकों की भीड़ के सामने यह घोषणा करके सनसनी फैला दी कि वह अपने आप को ‘कार्यवाहक राष्ट्रपति’ घोषित करते हैं.

ट्रंप इस पर प्रतिक्रिया देने वाले पहले विदेशी नेता थे और उन्होंने गुएडो को अपना समर्थन दिया. उन्होंने नेशनल असेंबली को ‘वेनेजुएला के लोगों द्वारा निर्वाचित सरकार की एकमात्र सही व्यक्ति’ बताया. वहीं काराकास में प्रेजीडेंशियल पैलेस की बालकनी से बोलते हुए मादुरो ने अमेरिकी सरकार पर ‘तख्तापलट की कोशिश’ करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, ‘‘वेनेजुएला के खिलाफ डोनाल्ड ट्रंप सरकार की चरमपंथी नीति गैर जिम्मेदाराना है, यह बहुत मूर्खतापूर्ण है.’’

हालांकि कनाडा, ब्राज़ील, अर्जेंटीना और कोलंबिया जैसे देशों ने वेनेजुएला के खिलाफ ट्रंप के सुर में सुर मिलाया है. आपको बता दें कि खु़द को अंतरिम राष्ट्रपति घोषित करने वाले विपक्षी नेता जुआन गुएडो की उम्र महज़ 35 साल है और हाल ही तक बेहद कम फेसम इस व्यक्ति को देश के कमज़ोर विपक्ष में जान भरने के लिए जाना जाता है.

देश में इस उथप-पुथल के बीच मादुरो को 2017 के बाद के सबसे बड़े प्रदर्शन का सामना करना पड़ा है. हालांकि, 2017 के उस प्रदर्शन की तुलना में जिसमें 120 लोगों की मौत हो गई थे, ये प्रदर्शन बेहद शांतिपूर्ण रहे. वहीं, देश की सेना ने मादुरो की खिलाफत का कोई सकेंत नहीं दिया है.

ये भी देखें

घंटी बजाओ: क्या प्रियंका के बिना मोदी से मुकाबला नहीं कर सकते राहुल गांधी ?



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *