China Finally Accepts Mumbai Terror Attack Was Most Dreaded | मुंबई 26/11 आतंकी हमले के 11 साल बाद चीन ने माना

बीजिंग: चीन ने 2008 में हुए मुंबई आतंकवादी हमले को ‘सबसे खतरनाक’ हमलों में से एक करार दिया है. लश्कर ए तैयबा ने मुंबई में ताज होटल समेत कुछ जगहों पर हमला किया था जिसमें 166 लोग मारे गए थे. चीन ने शियानजियांग प्रांत में उग्रवादियों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई के बारे में निकाले गए श्वेत पत्र में कहा कि पिछले कुछ सालों में वैश्विक स्तर पर आतंकवाद और उग्रवाद के फैलाव से मानवता को पीड़ा पहुंची है.

‘आतंकवाद और उग्रवाद के खिलाफ लड़ाई और शियानजियांग में मानवाधिकारों के संरक्षण’ नाम से प्रकाशित इस पत्र को ऐसे समय में रिलीज किया गया है जब पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी चीन की यात्रा पर हैं. इस पत्र में कहा गया कि विश्वभर में आतंकवाद और उग्रवाद ने शांति और विकास के लिए गहरा खतरा उत्पन्न किया है. आतंकवाद से लोगों के जीवन और संपत्ति को हानि पहुंची है.

श्वेत पत्र में चीन ने आतंकवाद की समस्याओं को तब उठाया है जबकि कुछ दिनों पहले ही चीन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पाकिस्तान स्थित जैश ए मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर को ‘वैश्विक आतंकवादी’ करार देने के प्रस्ताव पर तकनीकी रोक लगा दी. चीन के इस कदम को भारत ने निराशाजनक बताया है.

जैश ए मोहम्मद ने 14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी. इस खतरनाक हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे. इस हमले के बात भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव काफी बढ़ा.

मुंबई आतंकी हमले में नौ आतंकी पुलिस के हाथों मारे गये थे जबकि एक आतंकवादी अजमल कसाब जिंदा पकड़ा गया था. बाद में अजमल कसाब को फांसी की सजा दी गई. मुंबई आतंकवादी हमले का मुख्य षड्यंत्रकर्ता और जमात उद दावा का प्रमुख हाफिज सईद पाकिस्तान में खुले आम घूम रहा है. अमेरिका ने सईद को पकड़वाने वाले व्यक्ति को एक करोड़ डालर के इनाम की घोषणा कर रखी है.

यह भी पढ़ें-

यूपी में प्रियंका गांधी ने कहा- यह चुनाव नहीं चुनौती है, वोट उसी को दें जिसके लिए आपका दिल धड़कता हो

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सली हमला, CRPF के एक जवान शहीद, पांच घायल

नीदरलैंड: गोलीबारी में तीन लोगों की मौत, आतंकवादी हमले की आशंका

देखें वीडियो-

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *