Imran Khan Minister’s Fawad Chaudhry Says Pakistan Considering Full Airspace Closure With India | इमरान खान के मंत्री की गीदड़भभकी, कहा

इस्लामाबाद: जम्मू-कश्मीर को लेकर मोदी सरकार के फैसलों से पाकिस्तान बौखलाया है और लगातार धमकियां देकर खुद को सांत्वना दे रहा है. इमरान खान के एक मंत्री ने कहा है कि सरकार भारत के लिए पाकिस्तान का एयर स्पेस पूरी तरह बंद करने पर विचार कर रही है. उन्होंने कहा कि मोदी ने शुरू किया था हम खत्म करेंगे.

इमरान खान कैबिनेट में साइंस एवं टेक्नोलॉजी मंत्री फवाद चौधरी ने कहा, ”प्रधानमंत्री (इमरान खान) भारत के लिए हवाई क्षेत्र को पूरी तरह से बंद करने पर विचार कर रहे हैं. अफगानिस्तान में व्यापार करने के लिए भारत पाकिस्तान के जिस सड़क मार्ग का इस्तेमाल करता है, उसे भी पूरी तरह बंद किए जाने पर विचार किया जा रहा है. कैबिनेट मीटिंग में इन सभी फैसलों के कानूनी पहलुओं पर भी मशविरा किया गया. मोदी ने शुरू किया है, हम समाप्त करेंगे.”

कैबिनेट की मीटिंग के बाद सूचना मामलों के लिए प्रधानमंत्री की विशेष सहायक फिरदौस आशिक अवान ने कहा कि खान ने कैबिनेट को दुनिया में कश्मीर मुद्दे को उठाने के अपने फैसले के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि वह कश्मीरी लोगों की आवाज बने हुए हैं.

अवान ने कहा कि बैठक में संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रधानमंत्री के संबोधन पर भी चर्चा हुई जिसमें वह कश्मीरी लोगों के मुद्दों पर लड़ेंगे. उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री ने घोषणा की है कि दुनिया में कोई भी देश चाहे कश्मीर के साथ खड़ा रहे या नहीं, पाकिस्तान अपने कश्मीरी भाइयों और बहनों के साथ हमेशा खड़ा रहेगा.”

बिलावल भुट्टो ने कहा- कश्मीर की बात करते थे इमरान खान, अब तो मुजफ्फराबाद बचाने की नौबत आई

आपको बता दें कि इसी साल फरवरी में जब भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक को अंजाम दिया था तो पाकिस्तान ने एयर स्पेस को पूरी तरह बंद कर दिया था. हालांकि बाद में 27 मार्च को पाकिस्तान ने एयर स्पेस खोला.

पांच अगस्त को मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने और जम्मू-कश्मीर को दो भागों (जम्मू-कश्मीर और लद्दाख) में बांटकर दोनों को केंद्र शासित प्रदेश बनाने का एलान किया था. इस फैसले से बौखलाए पाकिस्तान ने भारत के साथ व्यापार बंद कर दिया था. यही नहीं ट्रेन और बस सेवा भी रोक दिए थे.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *