Brook Eddy makes property of 200 crore by selling Bhakti chai she got the idea in 2002 from india – भारत से ले गई चाय पिलाने का आइडिया, अमेरिका जाकर बना ली 200 करोड़ की संपत्ति

भारत में आधी से ज्यादा आबादी चाय की दीवानी है। सड़क के किनारे, कॉलेज के सामने, ऑफिस के बाहर, लगभग हर जगह चाय की दुकानें देखी जा सकती हैं। भारत की सड़क पर चाय बेचकर लाखों रुपए कमाने वाले लोगों के किस्से तो आपने कई बार सुने होंगे, लेकिन क्या आपने कभी किसी विदेशी को चाय बेचकर करोड़ों की संपत्ति बनाते देखा या सुना है। जाहिर सी बात है ऐसा होना थोड़ा मुश्किल है, लेकिन हम आपको बता दें कि यह नामुमकिन नहीं है और अमेरिका में ऐसा हुआ है। भारत की चाय के स्वाद का दीवाना अब अमेरिका भी बन गया है। आपको बता दें कि अमेरिका की ब्रुक एडी ने चाय बेचकर करीब 200 करोड़ की संपत्ति बना ली है।

एडी को चाय का आइडिया भारत से ही मिला था। वह साल 2002 में भारत आई थीं और उन्होंने उत्तरी भारत के गांवों का भ्रमण किया था। उस दौरान उन्होंने पाया कि विचारों और धर्म के आधार पर भले ही भारत के लोगों में मतभेद चलता हो, लेकिन एक कप चाय इन लोगों को फिर से एक कर देती है। एडी ने स्वाध्याय के ऊपर एनपीआर की स्टोरी सुनी थी, जिसके बाद वह भारत के दौरे पर आई थीं। आईएनसी के मुताबिक एडी ने कहा, ‘स्वाध्याय मुझे बहुत ही कूल मूवमेंट प्रतीत हुआ। 20 मिलियन लोग इसमें हिस्सा ले रहे थे लेकिन किसी ने इसके बारे में सुना नहीं था।’

बड़ी खबरें

अमेरिका में जन्मी एडी जब वापस अपने घर कोलोराडो गईं तब उन्हें वहां चाय का वह स्वाद नहीं मिला जो भारत में मिला करता था। उन्होंने 2007 में भक्ति चाय नाम से चाय का बिजनेस शुरू किया। बस वहीं से एडी के नए सफर की शुरुआत हो गई। कुछ ही दिनों में अमेरिका के लोग भी भक्ति चाय के दीवाने हो गए। अब एडी के पास करीब 200 करोड़ रुपए की संपत्ति है। इतने पैसे कमाने के बाद भी भारत के लिए एडी के प्यार में कोई कमी नहीं आई। उनका कहना है, ‘मैं एक व्हाइट गर्ल हूं और अमेरिका के कोलोराडो में पैदा हुई हूं। मेरे मन में भारत के लिए कुछ होना नहीं चाहिए, लेकिन मेरे मन में प्यार है। मुझे वहां के लोगों की विभिन्नता बहुत अच्छी लगी। मैं जब भी वहां जाती हूं मुझे कुछ ना कुछ नया देखने को मिलता है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *