Donald Trump pulls United States from Iran nuclear deal, Barack Obama calls it a ‘serious mistake’ – ईरान परमाणु समझौते से अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने खींचे हाथ, ओबामा ने बताया ‘भारी भूल’

राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने मंगलवार (8 मई) को ईरान के साथ हुए ऐतिहासिक परमाणु करार को खत्‍म करने का ऐलान किया। ट्रंप ने कहा कि वह दुनिया को सुरक्षित बना रहे हैं। राष्‍ट्रपति के अनुसार 2015 में हुआ समझौता ”भयावह एकतरफा सौदा था जो कभी नहीं होना चाहिए था।” ट्रंप ने ऐलान किया कि परमाणु हथियारों को लेकर ईरान की मदद करने वाले देशों पर अमेरिका ”कड़े आर्थिक प्रतिबंध लागू करेगा।” अमेरिका और ईरान के अलावा इस समझौते में शामिल ब्रिटेन, चीन, जर्मनी, फ्रांस और रूस में से ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी ने ट्रंप के इस फैसले पर खेद व्‍यक्‍त किया है।

पूर्व राष्‍ट्रपति बराक ओबामा, जिनके कार्यकाल में यह सौदा पूरा हुआ, ने इसे ”एक भारी भूल” बताया जो कि अमेरिका की वैश्विक साख को खत्‍म कर देगा। उन्‍होंने कहा कि ट्रंप का सौदा खत्‍म करने का फैसला ‘भटकावपूर्ण’ है क्‍योंकि ईरान सौदे पर अमल करता आ रहा है। ओबामा ने चेतावनी देते हुए कहा, ”जिन समझौतों का हमारा देश सदस्‍य हैं, उन्‍हें खत्‍म करने से अमेरिका की साख कम होती है और दुनिया की बड़ी ताकतों के सामने हमें कमजोर करती है।”

संबंधित खबरें

पूर्व अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने कहा कि इस करार के खत्‍म होने के बाद अमेरिका के पास ”यही विकल्‍प बचेंगे कि उसे परमाणु शक्ति संपन्‍न ईरान या मध्‍य-पूर्व में एक और जंग में से एक को चुनना होगा।” ट्रंप के इस फैसले का मतलब यह है कि ईरान की सरकार को अब यह तय करना होगा कि वह अमेरिका के नक्‍शेकदम पर चले या करार में बची-खुची चीजें समेट नें। ईरानी राष्‍ट्रपति हसन रूहानी ने कहा है कि उनका मुल्‍क इस करार में बना रहेगा।

2015 में अमेरिका व अन्‍य महाशक्तियों संग हुए करार के बाद ईरान से अधिकतर अमेरिकी और अंतरराष्‍ट्रीय प्रतिबंध हट गए थे। बदले में, ईरान ने अपने परमाणु कार्यक्रम पर रोक लगाने पर सहमति दी थी। यानी ईरान के लिए भारी निगरानी के बीच बम बनाना असंभव हो गया था। समाचार एजंसी एपी के अनुसार, ट्रंप ने मंगलवार को ही फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुल मैक्रों और चीन के नेता शी जिनपिंग से बात की। ब्रिटिश विदेश सचिव इस सप्‍ताह वाशिंगटन गए ताकि अमेरिका को करार में बने रहने के लिए मना सकें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *