Meet UK s new home secretary Sajid Javid His father was bus driver – बस ड्राइवर का बेटा बना ब्रिटेन का गृह मंत्री, साजिद जाविद का है भारत से भी कनेक्शन

ब्रिटेन में साजिद जाविद नए गृहमंत्री बने हैं। उन्हें यह पद अंबर रेड के इस्तीफे के बाद मिला है, जिन्होंने प्रवासियों के निर्वासन मामले में संसद को अन्जाने में गुमराह करने का आरोप स्वीकार करते हुए पद छोड़ा था। ब्रिटेन में साजिद का गृहमंत्री बनना इसलिए भी खास है कि वह बस ड्राइवर के बेटे हैं। उनके पिता शुरुआत में भारत में रहे, फिर पाकिस्तान चले गए। 1960 के दशक में पाकिस्तान से आकर ब्रिटेन में आकर बस गए थे। वह बस चलाते थे। राजनीति में आने से पहले साजिद इनवेस्टमेंट बैंकर रहे हैं। उन्हें पूर्व प्रधानमंत्री स्व. मार्गरेट थैचर का करीबी माना जाता है।

जाविद पहली बार 2010 में ब्रॉम्सग्रोव से सांसद बने। गृहमंत्री बनने से पहले वह कम्युनिटीज, लोकल गवर्नमेंट और हाउसिंग मंत्री का जिम्मेदारी संभाल रहे थे।जाविद नने कम्प्रेसिव स्कूल और एक्सटर यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ब्रिटेन के गृहमंत्री पद पर पहुंचने वाले पहले अश्वेत और अल्पसंख्यक नेता हैं। जावेद ने सियासी करियर में कई उपलब्धियां दर्ज कीं। उन्हें जनवरी 2015 में ब्रिटिश मुस्लिम समुदाय की ओर से पॉलिटीशन ऑफ द इयर का अवार्ड दिया गया, वहीं दो साल बाद नवंबर 2017 में उन्हें पैचवर्क फाउंडेशन की तरफ से कंजर्वेटिव एमपी ऑफ द ईयर सम्मान प्रदान किया गया।

बड़ी खबरें

जावेद के परिवार में पत्नी के आलावा चार बच्चे हैं।उनका मानना है कि वह किसी धर्म का पालन नहीं करते, हालांकि कहते हैं कि हमें ईसायत को अपने देश में धर्म के रूप में मान्यता देनी चाहिए।अंबर रड प्रधानमंत्री टेरीजा मे के भरोसेमंद माने जाते थे। उनका इस्तीफा प्रधानमंत्री के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। विपक्ष गृहमंत्री अंबर रेड पर अप्रवासियों के निर्वासन से जुड़े मद्दे पर गलत जानकारी देने का आरोप लगाते हुए हमलावर था।

दरअसल 1940 के दशक में कैरेबियाई आव्रजकों के समूह विंडरश जेनरेशन को ब्रिटेन लाया गया था। दूसरे विश्वयुद्ध के बाद लाए गए इन आव्रजकों को समूह के निर्वासन को लेकर गृहमंत्रालय की प्रवर समिति ने अंबर रड से सवाल किए थे। मगर वे संतोषजनक जवाब नहीं दे सके थे। इस पर उनसे इस्तीफा मांगा जा रहा था। दबाव बढ़ने पर अंबर रड ने इस्तीफा दे दिया। जिसके बाद साजिद जाविद को गृहमंत्री बनाया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *