Seven Indian Engineers Abducted from Afghanistan’s Baghlan Power Plant, Taliban Hand Suspected – अफगानिस्‍तान में 7 भारतीय इंजीनियर्स का अपहरण, विदेश मंत्रालय अफगान अधिकारियों के संपर्क में

अफगानिस्तान में काम कर रहे सात भारतीय इंजीनियर्स को अगवा कर लिया गया है। टोलो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, अपहरण की घटना बाग-ए-शामल गांव में हुई। स्थानीय अधिकारियों के अनुसार, यह घटना तब हुई जब कर्मचारी उस इलाके का दौरा कर रहे थे, जहां कंपनी को एक बिजली का उप स्टेशन स्थापित करने के लिए ठेका मिला था। बगलान प्रांतीय परिषद ने घटना को ताबिलान से जुड़ा बताया है। तालिबान ने इस पर टिप्पणी नहीं की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता का कहना है, ‘हमें भारतीय इंजीनियर्स के अपहरण की खबर मिली है और हम अफगानिस्तान के अधिकारियों के संपर्क में हैं।’

रॉयटर्स के मुताबिक यह सभी इंजीनियर्स नॉर्थ अफगानिस्तान के बागलान प्रांत स्थित पावर प्लांट में काम करते थे। बागलान पुलिस के प्रवक्ता जबीउल्लाह शूजा का कहना है कि सभी इंजीनियर्स सरकार द्वारा संचालित पावर स्टेशन में एक मिनिबस में सफर कर रहे थे, उसी दौरान कुछ अज्ञात लोगों ने सभी इंजीनियर्स और अफगान ड्राइवर को अगवा कर लिया। ये सभी अज्ञात लोग हथियारों से लैस थे।

संबंधित खबरें

वहीं अफगानिस्तान स्थित भारतीय दूतावास के दो अधिकारियों ने भी भारतीय इंजीनियर्स के अपहरण की खबर की पुष्टी कर दी है। सभी इंजीनियर्स पावर जनरेटर स्टेशन को ऑपरेट करने वाले दा अफगानिस्तान ब्रेश्ना शिरकत (डीएबीएस) के लिए काम करते थे। भारतीय दूतावास के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी कि अफगानिस्तान में बड़े इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स पर भारत के करीब 150 इंजीनियर्स और तकनीक के विशेषज्ञ काम कर रहे हैं। अधिकारी ने कहा, ‘हम इन इंजीनियर्स को छुड़ाने की कोशिश कर रहे हैं।’ हालांकि अभी तक किसी भी संगठन ने इस अपहरण की जिम्मेदारी नहीं ली है।

बता दें कि अफगानिस्तान में स्थानीय लोगों का अपहरण होना आम बात है। इस तरह की घटनाएं बेरोजगारी बढ़ने के साथ बढ़ती जा रही हैं। साल 2016 में एक भारतीय काबुल में भारतीय कार्यकर्ता का अपहरण किया गया था, जिसे 40 दिन बाद रिहा किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *