woman arreasted for cooking eating endangered animals – जंगली जानवरों को खाते हुए वीडियो बना यूट्यूब पर करती थी अपलोड, पैसे कमाने के इस रास्ते ने पहुंचा दिया जेल

इंटरनेट पर मशहूर होने के लिए कई लोग आजकल अजीबोगरीब हरकतें करते हैं लेकिन कंबोडिया की एक महिला ने पैसा कमाने के लिए यूट्यूब वीडियोज़ का सहारा लिया और लुप्त होने की कगार पर खड़े कई जानवरों को ही पका कर खा गई। कंबोडिया की एह लिन तुच शादीशुदा हैं। वे एक बच्चे की मां भी है। लिन और उनके पति ऑनलाइन माध्यम से पैसा कमाना चाहते थे और इसके लिए उन्हें एक भयानक करतूत सूझी। लिन ने कई सारे एक वीडियो बनाए जिसमें वो निर्ममता से जानवरों की खाल उधेड़ते हुए और उन्हें खाते हुए देखी जा सकती थीं।

ये महिला इन तड़पते जानवरों को खाने से पहले ग्रिल भी करती थी। किन को इन वीडियोज़ में शार्क, किंग कोबरा, विशालकाय छिपकली, फिशिंग कैट और मेंढक जैसे प्राणियों को खाते हुए साफ देखा जा सकता है। वीडियो के सामने आने के बाद कई लोगों ने इस मामले में अपना विरोध जाहिर किया है। लोगों का कहना है कि इस कपल ने जानवरों के साथ क्रूर बर्ताव किया है और ये कोई साधारण जानवर नहीं बल्कि संरक्षित प्रजाति के जानवर थे। मामले के तूल पकड़ने पर कंबोडिया के पर्यावरण मंत्रालय ने इस कपल की धरपकड़ के आदेश दिए थे लेकिन अगले ही दिन इस कपल ने खुद लोगों के सामने आकर माफी मांगी। उन्होंने माना कि पैसा कमाने के लिए उन्होंने कई जानवरों को पकाया था। उन्होंने क्षेत्र के पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने के लिए भी माफी मांगी।  इस कपल का दावा है कि उन्होंने इन जानवरों को स्थानीय बाज़ार से खरीदा था।

पर्यावरण मंत्रालय इस कपल के खिलाफ कानूनी एक्शन लेने का मन बना चुका है। मंत्रालय के मुताबिक जिन जानवरों को इस महिला ने खाया है उनमें से ज़्यादातर लुप्त होने की कगार पर नही थे बल्कि संरक्षित कैटेगरी में आते थे। केवल एक ही ऐसी प्रजाति थी (Fishing Cat) जो लुप्त होने की कगार पर खड़ी थी। इस कपल ने इन जानवरों को कंबोडिया के एक जंगल Phnom Penh में पकाया था। हालांकि इस कपल ने उन वीडियोज़ को हटा दिया है जिसमें किन जानवरों को खाते हुए देखी जा सकती है लेकिन अभी भी कुछ वीडियोज़ मौजूद है जहां ये महिला कोबरा, शार्क और मेंढकों को  सिकोड़ते हुए देखे जा सकते हैं।

पर्यावरण अधिकारी अब इस बात की जांच में जुटे हैं कि इन जानवरों को जंगल में मार गिराया गया था या फिर इन्हें किसी अवैध स्टॉल से खरीदा गया था। लिन ने कहा कि मुझे नहीं पता था कि हमने किस तरह के जानवरों का इस्तेमाल किया हमने इन जानवरों को खरीदा था और पिछले साल दिसंबर से इन वीडियोज़ को बनाना शुरू दिया था। हमने इस मामले में अपनी गलती मान ली है। हालांकि इस मामले में आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है।

लिन के पति ने कहा कि वे अपने सोशल मीडिया चैनल के माध्यम से ज़्यादा से ज़्यादा पैसा कमाना चाहते थे। गौरतलब है कि लिन का परिवार अभी तक इस वीडियो पर गूगल के विज्ञापनों की मौजूदगी के चलते 500 डॉलर्स की कमाई कर चुका है। कंबोडियन सरकार ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App




Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *